Assembly Banner 2021

रूस में बनी कोरोना वैक्सीन 'स्पूतनिक-5' को भारत में जल्द मिल सकती है मंजूरी

डॉ रेड्डीज ने स्पूतनिक-5 टीका भारत में लाने के लिए ‘रशिया डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड’ के साथ करार किया है (सांकेतिक तस्वीर)
 (AP Photo/Juan Karita)

डॉ रेड्डीज ने स्पूतनिक-5 टीका भारत में लाने के लिए ‘रशिया डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड’ के साथ करार किया है (सांकेतिक तस्वीर) (AP Photo/Juan Karita)

Sputnik-V Vaccine: यह दो खुराक का टीका होगा. आप पहली खुराक लेने के बाद दूसरी खुराक 21वें दिन लेंगे. टीका लेने के 28वें और 42वें दिन के बीच प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो जाएगी.

  • Share this:
हैदराबाद. फार्मा क्षेत्र की कंपनी डॉ रेड्डीज लेबोरेटरीज को उम्मीद है कि रूसी कोरोना वायरस रोधी टीके (Coronavirus Vaccine) स्पूतनिक-5 (Sputnik-5) को अगले कुछ सप्ताह में भारतीय औषधि नियामकों से मंजूरी मिल जाएगी. कंपनी के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. कंपनी के सीईओ, एपीआई और सर्विसेज, दीपक सापरा ने कहा, “हमें अगले कुछ सप्ताह में मंजूरी मिलने की उम्मीद है. यह दो खुराक का टीका होगा. आप पहली खुराक लेने के बाद दूसरी खुराक 21वें दिन लेंगे. टीका लेने के 28वें और 42वें दिन के बीच प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो जाएगी. इसलिए यह दो खुराक का टीका है और हमें अगले कुछ सप्ताह में यह मिलने की उम्मीद है.”

सापरा रविवार शाम को आयोजित एक वेबिनार के दौरान अपने विचार रख रहे थे जब उनसे स्पूतनिक टीके की उपलब्धता के बारे में पूछा गया. उन्होंने बताया कि डॉ रेड्डीज ने स्पूतनिक-5 टीका भारत में लाने के लिए ‘रशिया डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड’ के साथ करार किया है.

91.4 असरकारक है वैक्सीन
बता दें रूस का स्पूतनिक पांच टीका कोरोना वायरस के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करने में 91.4 फीसदी असरकारक है और कोरोना वायरस के गंभीर मामलों में इसने सौ फीसदी असर दिखाया है. पिछले साल आई एक रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ था.
गामलेया सेंटर और रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) ने बयान जारी कर कहा, ‘‘स्पूतनिक पांच टीका 91.4 फीसदी असरकारी है और यह रिपोर्ट पहला डोज देने के 21 दिनों बाद प्राप्त डाटा के विश्लेषण पर आधारित है.’’



इसने बताया कि टीके ने कोरोना वायरस के गंभीर मामलों में सौ फीसदी असर दिखाया है.
(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज