होम /न्यूज /राष्ट्र /थर्ड फ्रंट के लिए KCR को मिल रहा है ज़ोर-शोर से समर्थन

थर्ड फ्रंट के लिए KCR को मिल रहा है ज़ोर-शोर से समर्थन

के.चंद्रशेखर राव

के.चंद्रशेखर राव

गैर-कांग्रेस और गैर बीजेपी पार्टियों के साथ केसीआर के थर्ड फ्रंट बनाने के सुझाव को लगातार समर्थन मिल रहा है, ममता, ओवैस ...अधिक पढ़ें

    ‘‘गैर कांग्रेस, गैर भाजपा मोर्चा’’ बनाने का प्रस्ताव जोर पकड़ने लगा है. तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ने जहां इसके लिए द्रमुक से संपर्क साधा है वहीं तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव को भी इस तरह के प्रयासों के लिए समर्थन मिल रहा है. तेलंगाना मुख्यमंत्री कार्यालय के मुताबिक छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने आज राव से फोन पर बात की और तीसरा मोर्चा जैसे संगठन की योजना के लिए समर्थन जताया.

    तेलंगाना राष्ट्र समिति के नेता राव ने दो दिन पहले कहा था कि वह राष्ट्रीय राजनीति में भाग लेने के इच्छुक हैं ताकि ‘‘बदलाव’’ लाया जा सके. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, एआईएमआईएम प्रमुख असाउद्दीन ओवैसी, झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और महाराष्ट्र के दो सांसदों सहित कई नेताओं ने राव के प्रस्ताव का समर्थन किया है.

    राव के कार्यालय ने आज कहा कि उनके विचारों को आगे बढ़ाने के लिए वह विचार-विमर्श की प्रक्रिया शुरू करने की योजना बना रहे हैं. विज्ञप्ति में बताया गया है कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री का विचार है कि जो लोग भी देश के बारे में अलग-अलग तरीके से सोच रहे हैं उन्हें राजनीति में गुणवत्तापूर्ण बदलाव के लिए भागीदार बनाया जाए. विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘‘राव सेवानिवृत्त आईएएस, आईपीएस, आईएफएस और आईआरएस अधिकारियों से मुलाकात करेंगे जो विभिन्न स्तर पर देश के प्रशासन का हिस्सा रहे हैं और काफी अनुभव रखते हैं.’’ विज्ञप्ति के मुताबिक राव अर्थशास्त्रियों और केंद्र सरकार के सेवानिवृत्त सचिवों के अलावा, मीडिया घरानों, पत्रकारों, उद्योग घरानों और श्रम संगठनों के साथ भी बैठक करेंगे. बैठकों का आयोजन हैदराबाद के साथ नई दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, कोलकाता, बेंगलुरू और अन्य स्थानों पर भी किया जाएगा.

    पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने शिवसेना के नेता उद्धव ठाकरे से भी बात की. उन्होंने कहा कि दोनों नेता एक-दूसरे के संपर्क में हैं. शिवसेना भले ही महाराष्ट्र और केंद्र में भाजपा सरकार के साथ है लेकिन वह भाजपा और उसके नेतृत्व की आलोचक रही है.

    राव ने शनिवार को कहा था, ‘‘सुबह से ही मुझे भारत के अलग-अलग स्थानों से फोन कॉल आ रहे हैं. आज दोपहर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मुझे फोन किया और कहा कि मैंने सही निर्णय किया है और वह मेरा समर्थन करेंगी और हम साथ आगे बढ़ेंगे.’’ तेलंगाना भाजपा के प्रमुख कृष्ण सागर राव ने कहा कि केंद्र में गैर भाजपा, गैर कांग्रेस मोर्चा के राव के प्रस्ताव का उद्देश्य ‘‘भ्रष्टाचार से खुद को बचाने की संभावना तलाशना है.’’

    भाजपा और कांग्रेस ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री के प्रयासों की आलोचना की है. तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष एन. उत्तम कुमार रेड्डी ने इस तरह का मोर्चा बनाने की चंद्रशेखर राव की योजना की आलोचना की है. रेड्डी ने आरोप लगाया कि ‘‘अपनी विफलताओं’’ से लोगों का ध्यान बंटाने के लिए मुख्यमंत्री ‘‘नौटंकी कर रहे हैं.’’

    ये भी पढ़ें:

    KCR का यह गणित दिल्ली कूच के सपनों को कर रहा बुलंद

    KCR के थर्ड फ्रंड को मिला ममता-औवैसी का साथ; डीएमके, सपा, शिवसेना से बातचीत जारी

     

    Tags: K Chandrashekhar Rao

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें