लाइव टीवी

कंपनी का दावा-हम 13 रुपये में बेच रहे हैं पत्तल, लोग बोले- Oh My God!

News18Hindi
Updated: January 20, 2020, 12:57 PM IST
कंपनी का दावा-हम 13 रुपये में बेच रहे हैं पत्तल, लोग बोले- Oh My God!
निकोबार ने कहा- हम 100 रुपये में बेच रहे हैं दोना

निकोबार (Nicobar) कंपनी ने दावा किया है कि वह 100 रुपये का एक सेट दोना बेच रही है. इसका मतलब प्रत्येक पत्तल की कीमत लगभग 13 रुपए है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2020, 12:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. डिस्‍पोजेबल कप, प्‍लेट, पत्तल जैसे प्रोडक्‍ट्स यूज करने का ट्रेंड लगातार बढ़ रहा है. ऐसे में इसका कारोबार भी बढ़ रहा है. इन्हीं दोना-पत्तल में आपको समोसे और मिटाइयां परोसी जाती हैं. इसी कारोबार से जुड़ी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. जिसमें निकोबार कंपनी ने दावा किया है कि वह सबसे सस्ते पत्तल बेच रही है, जबकि अन्य कंपनियां लोगों से कई गुना ज्यादा पैसा वसूल रही हैं.

निकोबार ने कहा कि वह 100 रुपये का एक सेट पत्तल बेच रही है. इसका मतलब प्रत्येक दोना की कीमत लगभग 13 रुपये है. जबकि अन्य ई-कॉमर्स वेबसाइटों पर दोना-पत्तल की कीमत स्थानीय दुकानों की तुलना में कहीं ज्यादा है. कंपनी ने कहा कि अन्य जगह एक पत्तल सेट की कीमत 200 रुपये से अधिक है. बता दें, एक सेट में 8 प्लेट्स आती हैं.

एक सेट में आते हैं 8 दोना


प्लास्टिक पैकेजिंग में की 85% की कमी

निकोबार ने अपनी वेबसाइट पर पर्यावरण के अनुकूल ब्रांड होने का दावा किया है और कहा कि प्लास्टिक पैकेजिंग में 85 फीसदी की कमी की है. कंपनी ने कहा कि वह उन कंपनियों के साथ काम करती है जो अपने कर्मचारियों के साथ अच्छा व्यवहार करते हैं.

खुद बनाते हैं अपनी चीजें
निकोबार ने कहा, "हम अपनी चीजें बनाते हैं, चाहे उत्तराखंड हथकरघा में छोटे समुदायों के साथ हो (जो हमारे मेरीनो ऊनी स्कार्फ बनाते हैं) या यहां पर हमारे तुलसी फार्म के टेलरिंग रूम में, या फिर सावधानी से चुने गए फैक्ट्री पार्टनरों के साथ, जिनके यहां काम करने का बेहतरीन माहौल है और वे अपने लोगों से अच्छे से पेश आते हैं."
अन्य ई-कॉमर्स वेबसाइटों ने बढ़ाए रेट


इससे यह सवाल उठता है कि अगर वे लोगों को छोटे उद्योगों से लेकर आते हैं और उत्पाद बनाते हैं और उन्हें अच्छे दामों पर बेचते हैं तो क्या मजदूरों को सही दाम मिल पाता है?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 18, 2020, 4:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर