होम /न्यूज /राष्ट्र /DDC चुनाव: रविशंकर प्रसाद बोले-बुरहान वानी के गांव में भी गुपकार की हार कश्मीर की हवा का रुख बताती है

DDC चुनाव: रविशंकर प्रसाद बोले-बुरहान वानी के गांव में भी गुपकार की हार कश्मीर की हवा का रुख बताती है

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बीजेपी पूरे केंद्रशासित प्रदेश में सबसे बड़ी पार्टी बनी है. (फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बीजेपी पूरे केंद्रशासित प्रदेश में सबसे बड़ी पार्टी बनी है. (फाइल फोटो)

Jammu Kashmir DDC Election Results: रविशंकर प्रसाद ने आगे कहा कि जो लगभग 53 निर्दलीय उम्मीदवार जीते हैं उन्होंने आतंक क ...अधिक पढ़ें

    श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर में जिला विकास परिषद (Jammu Kashmir District Development Council) के पहले चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) 74 सीट पर जीत हासिल कर सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. पार्टी की इस बड़ी जीत के बाद केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravishankar Prasad) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि ये लोकतंत्र, आवाम और आशा की जीत है. प्रसाद ने कहा कि भाजपा की ये जीत, पीएम मोदी ने जो कश्मीर के भविष्य के लिए सोचा था उस सोच की जीत है. रविशंकर प्रसाद ने कहा, 'डीडीसी चुनाव में अगर गुपकार गैंग के उम्मीदवार को बुरहान वानी के गांव में भी हार का सामना करना पड़ता है तो समझ लीजिए कि कश्मीर की हवा का रुख क्या है. बुरहान वानी की मौत को इन लोगों ने कितना बड़ा मुद्दा बनाया था.'

    केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बीजेपी पूरे केंद्रशासित प्रदेश में सबसे बड़ी पार्टी बनी है. भाजपा को 74 सीटें मिली हैं, नेशनल कॉन्फ्रेंस को 67 सीटें, पीडीपी को 27 सीटें और कांग्रेस को 26 सीटें मिली हैं. प्रसाद ने कहा कि 39 निर्दलीय उम्मीदवार जिन्होंने जीत दर्ज की है उनमें से कई बीजेपी के समर्थक हैं. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि गुपकार गठबंधन बीजेपी से अकेले न लड़ पाने की कमजोरी के कारण बना है. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बीजेपी को एनसी, पीडीपी और कांग्रेस तीनों के वोट से ज्यादा वोट मिले हैं. बीजेपी को 487364 वोट मिले हैं. घाटी में कमल खिला है.

    ये भी पढ़ें- ब्रिटेन में वायरस बेकाबू है, क्या इस बीच 26 जनवरी को मुनासिब होगा 'नमस्ते लंदन'

    कश्मीर की जनता ने अलगाववादियों के मुंह पर मारा तमाचा
    केंद्रीय मंत्री ने जीत के आंकड़े बताते हुए कहा कि कश्मीर की जनता ने अलगाववादियों पर बड़ा तमाचा मारा है. कुलगाम में 28.9, शोपियां में 17.5 फीसदी वोट पड़ा- ये उनके प्रभाव वाले इलाके हैं. पुलवामा में 17.4 फीसदी वोटिंग हुई है, सोपोर में 27.8 फीसदी हुई है. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद अनुच्छेद 370 हटाया गया. उन्होंने कहा कि बांदीपुरा में 51.7 फीसदी वोटिंग हुई, गांदरबल में 43.4 फीसदी वोटिंग हुई. पंचायती चुनाव में 44 और लोकसभा चुनाव में 23 फीसदी वोटिंग हुई.

    केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इन इलाकों को हॉट बेड कहा जाता था. वहां की जनता क्या चाहती है ये समझना होगा. उन्होंने कहा कि इसका कारण लोगों ने पहली बार लोकतंत्र में ईमानदार चुनाव को देखा. लोकसभा में फारूक अब्दुल्ला जीतकर आए थे उस समय 7 फीसदी वोट हुई थी.

    केंद्र ने राष्ट्रपति शासन में चुनाव कराए थे. NCP, INC PDP सबने विरोध किया था. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पहली बार भारत में भारत सरकार से पैसा सीधे पंचायतों को मिलने लगा. लोगों ने डेवलपमेंट को जमीन पर देखा. उन्होंने कहा कि कश्मीर के लोगों ने राज करने वाले और काम करने वालों में अंतर पहचाना है.

    ये भी पढ़ें- बजट में सरकार कर सकती है ये बड़ा ऐलान, हजारों मैन्युफैक्चर्स को मिलेगा बढ़ावा

    ये कश्मीर की नई शुरुआत
    रविशंकर प्रसाद ने आगे कहा कि जो लगभग 53 निर्दलीय उम्मीदवार जीते हैं उन्होंने आतंक के खिलाफ ताकत दिखाई है. इंजीनियर एजाज ने जीत कर जो बोला वो कश्मीर की नई आवाज है. प्रसाद ने कहा कि ये कश्मीर की नई शुरिआत है. कश्मीर की जम्हूरियत नई अंगड़ाई ले रही है. उन्होंने कहा कि लोकतंत्र आशा और उत्साह की अंगड़ाई ले रहा है.

    रविशंकर प्रसाद ने घाटी में आतंक की स्थिति को लेकर कहा कि पाकिस्तान के आतंक को गोले बरसते रहे, आतंकियों का भय, सुरक्षा बलों पर हमले, कहां एक समय ढेले चलते थे. 370 हटने के बाद कश्मीर बदला है इसको समझना चाहिए. आतंकी बुरहान वानी के गांव में गुपकार गठबंधन की हार पर प्रसाद ने कहा कि अगर वहां पर भी गुपकार गैंग हारता है तो समझिए कश्मीर की हवा क्या कह रही है.

    उन्होंने कहा कि कुछ लोगों का काम हमारी आलोचना है, वो लोकप्रियता पर सवाल उठाते हैं. प्रसाद ने कहा कि आज एक बार फिर बिहार, राजस्थान, हैदराबाद, बोडोलैंड, अरुणाचल के स्थानीय निकाय चुनावों और 11 राज्यों के उपचुनाव में बीजेपी को भव्य सफलता मिली है. लद्दाख से लेकर हैदराबाद और अब कश्मीर ये तो ऑल इंडिया प्रोफाइल है. जनता पीएम की अगुआई में कितना विश्वास कर रही है ये देखना चाहिए. (विक्रांत यादव के इनपुट सहित)

    Tags: BJP, Ddc election 2020

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें