अपना शहर चुनें

States

12,638 हीरों से बनी इस अंगूठी का नाम गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज, मेरठ के शिल्पकार ने की है तैयार

फोटो: News18 English
फोटो: News18 English

Most Diamond in one ring: 'मैरीगोल्ड- ए रिंग ऑफ प्रोस्पैरिटी' (The Marigold - The Ring of Prosperity) बनाने वाले भारत में मेरठ के एक शिल्पकार हर्षित बंसल ने कहा 'मेरा लक्ष्य हमेशा से ही 10 हजार हीरों से ज्यादा का था.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2020, 12:20 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. भारत में मेरठ के एक शिल्पकार हर्षित बंसल की एक अंगूठी 'मैरीगोल्ड- ए रिंग ऑफ प्रोस्पैरिटी' (The Marigold - The Ring of Prosperity) ने नया कीर्तिमान रच दिया है. 12,638 छोटे हीरों से मिलकर बनी इस अंगूठी का नाम गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड (Guinness World Records) में दर्ज हो गया है. खास बात है कि इससे पहले भी यह रिकॉर्ड भारत के ही नाम था. उस अंगूठी में 7,801 हीरे लगे हुए थे. अंगूठी तैयार करने वाले हर्षित बताते हैं कि इसकी केवल डिजाइन तय करने में उन्हें सालों का वक्त लगा है.

बेचना नहीं चाहते
इस खास अंगूठी का वजन 165 ग्राम से थोड़ा ज्यादा है. हालांकि, इसे तैयार करने वाले 25 वर्षीय हर्षित बताते हैं वह इसे बेचने की कोई योजना नहीं बना रहे हैं. इतना ही नहीं उन्होंने कई ग्राहकों को मना भी कर दिया है. हर्षित कहते हैं कि यह बेशकीमती है और हमारे लिए सम्मान की बात है. उन्होंने बताया कि यह अंगूठी आरामदायक और पहनी जा सकती है. वह इसे अपना सपना कहते हैं.

यह भी पढ़ें: क्यों हीरे, मोती और सोने से ज्यादा कीमती होती है व्हेल की उल्टी
उन्होंने बताया कि इस अंगूठी का ख्याल उन्हें दो साल पहले आया, जब वह सूरत में ज्वैलरी डिजाइन की पढ़ाई कर रहे थे. खास बात है कि सूरत को भारत के हीरों का गढ़ कहा जाता है. उन्होंने कहा 'मेरा लक्ष्य हमेशा से ही 10 हजार हीरों से ज्यादा का था.' उन्होंने बताया कि इस डिजाइन को तय करने से पहले कई डिजाइन को कचरे में फेंका था. आखिर में सालों की मेहनत के बाद इस एक डिजाइन पर सहमति बनी थी. उनकी कंपनी की तरफ से जारी बयान में बताया गया कि अंगूठी में मौजूद हर छोटी पंखुड़ी पर एक आठ परतों की फूल की डिजाइन है. यह काफी दुर्लभ है.



हैदराबाद के ज्वैलर के नाम था रिकॉर्ड
इससे पहले एक रिंग में सबसे ज्यादा हीरों का रिकॉर्ड हैदराबाद के शिल्पकार का नाम था. 7801 हीरों से बनी इस अंगूठी का नाम भी गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया था. खास बात है कि इस अंगूठी का आकार भी एक फूल की तरह ही था. मीडिया रिपोर्ट्स बताती हैं कि निर्माता को इस अंगूठी की प्रेरणा एक दुर्लभ फूल ब्रह्म कमलम से मिली थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज