कोरोना फाइटर के सम्मान में अलग होगा इस साल का स्वतंत्रता दिवस समारोह

कोरोना फाइटर के सम्मान में अलग होगा इस साल का स्वतंत्रता दिवस समारोह
कोरोना फाइटर के सम्मान में अलग होगा इस साल का स्वतंत्रता दिवस समारोह (फाइल फोटो)

स्वतंत्रता दिवस समारोह (Independence day celebration) के दौरान पिछले साढ़े चार महीनों में भारत के कोरोना वॉरियर्स ने जिस मजबूती से ये जंग लड़ी है देश उसे याद करेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 6, 2020, 7:51 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण दौर के बीच इस बार स्वतंत्रता दिवस समारोह (Independence day celebration) कार्यक्रम में कई महत्वपूर्ण बदलाव किए गए हैं. गृह मंत्रालय गाइडलाइंस के मुताबिक, सोशल डिस्टेंसिंग का खास खयाल रखा जाएगा और सिर्फ 1500 मेहमानों को ही समारोह में आमंत्रित किया जाएगा जो कि कोरोना वॉरियर्स होंगे.

स्वतंत्रता दिवस समारोह (Independence day celebration) के दौरान पिछले साढ़े चार महीनों में भारत के कोरोना वॉरियर्स ने जिस मजबूती से ये जंग लड़ी है देश उसे याद करेगा. यही वजह है कि आयोजन के दौरान उन्हें ही बतौर अतिथि बुलाया जाएगा. इनकी तादात 1500 होगी, इसमें कोरोना वॉरियर्स ही रहेंगे. इसमें एमसीडी कर्मचारी, अस्पताल कर्मचारी और दिल्ली पुलिस के जवान का नाम गेस्ट लिस्ट में हैं. गृह मंत्रालय इस सूची को अंतिम रूप दे रहा है, गेस्ट की ये संख्या हर साल के मुकाबले बेहद कम है. वैसे हर साल दस हजार से ज्यादा गेस्ट स्वतंत्रता दिवस समारोह में मौजूद रहते हैं.

कोरोना वॉरियर्स के योगदान का होगा जिक्र



सामान्य सुरक्षा के मापदंडों के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा लेकिन उसके साथ-साथ जो आयोजक हैं वह यह भी सुनिश्चित कर लेना चाहते हैं कि जो भी कोई इस महत्वपूर्ण समारोह में आए वह आश्वस्त करे. उनको उसमें कोविड के लक्षण नहीं है और उसकी वजह से यहां पर संक्रमण नहीं फैलेगा. समारोह की अतुल्य भारत थीम रहेगी और कोरोना वॉरियर्स के योगदान का जिक्र किया जाएगा आयोजन के दौरान, कोरोना फाइट को प्रमुखता दी जाएगी. इस साल के कार्यक्रम में अन्य महत्वपूर्ण बदलाव भी किए गए हैं.
समारोह के दौरान मंत्री,  सेक्रेटरी स्तर के अधिकारी जिनकी तादात करीब 800 होती है और ऊपर के रैंप पर बैठते थे, इस बार ऊपर के रैंप पर सिर्फ 100 लोग बैठेंगे, बाकी के 700 लोग नीचे बैठेंगे. इससे पहले के समारोह में ज्वाइंट सेक्रेट्री और डिप्टी सेक्रेटरी स्तर के अधिकारियों को बुलाया जाता था लेकिन इस बार उच्च अधिकारियों में सहमति यह बनी है कि सिर्फ ज्वाइंट सेक्रेट्री स्तर के अधिकारियों को बुलाया जाए.

सिर्फ 500 NCC छात्र होंगे शामिल

इससे पहले स्वतंत्रता दिवस समारोह में 4200 बच्चे आते थे. जिसमें एनसीसी के भी छात्र होते थे, इनको जमीन पर बैठाया जाता था लेकिन इस बार कोरोना वायरस खतरे के चलते सिर्फ 500 एनसीसी छात्रों को बुलाया गया है, इन्हें सोशल डिस्टेंसिंग के साथ कुर्सियों पर बैठाया जाएगा. समारोह स्थल के पास पार्क में इमरजेंसी कोविड सेंटर बनाए जाएंगे, टेंट से तैयार किए गए इन हेल्थ सेंटर में दो से तीन बेड होंगे. ये व्यवस्था इसलिए की जा रही है ताकि कोरोना के किसी इमरजेंसी के हालात में तुरंत उचित इलाज जरूरतमंद को मिल सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज