लाइव टीवी

राष्ट्रीय एकता दिवस पर बोले पीएम मोदी- जो हमसे युद्ध में नहीं जीत सकते, वो हमारी एकता को चुनौती दे रहे

News18Hindi
Updated: October 31, 2019, 1:00 PM IST
राष्ट्रीय एकता दिवस पर बोले पीएम मोदी- जो हमसे युद्ध में नहीं जीत सकते, वो हमारी एकता को चुनौती दे रहे
सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती के मौके पर पीएम मोदी गुजरात में थे.

सरदार वल्लभ भाई पटेल की 144वीं जयंती के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित किया. आइए हम आपको उनके संबोधन की 10 खास बातें बताते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2019, 1:00 PM IST
  • Share this:
अहमदाबाद.  देश के पहले गृहमंत्री और हिन्दुस्तान के शिल्पकार सरदार वल्लभ भाई पटेल (Sardar vallabh bhai patel) की जयंती पर गुजरात (Gujarat) स्थित केवड़िया (Kewadia) में बने स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of unity) पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) पुष्पांजलि की. इस दौरान पीएम मोदी एकता परेड में मौजूद रहे. इसके बाद पीएम ने लोगों को संबोधित किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि ' हम लोगों ने सरदार वल्लभ भाई पटेल के विचार अभी सुनें, उनकी आवाज हमारे कानों में गूंजना, उनके विचारों की वर्तमान में महत्ता, प्रतिपल देश की एकता और अखंडता के बारे में सोचना.​ उनकी वाणी में जो शक्ति थी और उनके विचारों में जो प्रेरणा था उसे हर हिंदुस्तानी महसूस कर सकता है.'

पढ़ें, प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन से जुड़ी 10 बड़ी बातें:

1.स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के करीब ही आयोजित कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा कि आज ये प्रतिमा, सिर्फ भारतवासियों को ही नहीं, पूरे विश्व को आकर्षित कर रही है, प्रेरित कर रही है.आज इस प्रेरणा स्थली से, सरदार पटेल को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए संपूर्ण राष्ट्र गौरव का अनुभव कर रहा है.

2. प्रधानमंत्री ने कहा कि पूरी दुनिया में अलग-अलग देश, अलग-अलग पंथों, अलग-अलग विचारधाराओं, भाषाओं, रंग-रूप के आधार पर बने. एकरूपता, उन देशों की विशेषता रही, पहचान रही लेकिन भारत की विशेषता विविधता में एकता है.

3. पीएम ने कहा कि ये वो ताकत है जो पूरी दुनिया में किसी और देश में नहीं मिलेगी. यहां दक्षिण से निकले आदि शंकराचार्य, उत्तर में मठों की स्थापना करते हैं. यहां बंगाल से निकले स्वामी विवेकानंद को देश के दक्षिणी छोर कन्याकुमारी में नया ज्ञान प्राप्त होता है.

MODI
रन फॉर यूनिटी के बाद देशवासियों को राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाते पीएम मोदी


4. प्रधानमंत्री ने कहा यहां पटना में प्रकट हुए गुरु गोविंद सिंह, पंजाब में जाकर, देश की रक्षा के लिए खालसा पंथ की स्थापना करते हैं. यहां रामेश्वरम में पैदा हुए एपीजे अब्दुल कलाम, दिल्ली में देश के सर्वोच्च पद पर आसीन होते हैं.
Loading...

5. पाकिस्तान की ओर इशारा करते हुए पीएम ने कहा कि मैं आज राष्ट्रीय एकता दिवस पर, प्रत्येक देशवासी को देश के समक्ष मौजूद ये चुनौती याद दिला रहा हूं.जो हमसे युद्ध में नहीं जीत सकते, वो हमारी इसी एकता को चुनौती दे रहे हैं. लेकिन वो भूल जाते हैं कि सदियों की ऐसी ही कोशिशों के बावजूद, हमें कोई मिटा नहीं सका, हमारी एकता को परास्त नहीं कर सका.

6. पीएम ने कहा कि सरदार साहब के आशीर्वाद से, इन ताकतों को परास्त करने का एक बहुत बड़ा फैसला देश ने कुछ हफ्ते पहले ही लिया है. आर्टिकल 370 ने जम्मू-कश्मीर को अलगाववाद और आतंकवाद के सिवाय कुछ नहीं दिया.

7. उन्होंने कहा कि पूरे देश में जम्मू-कश्मीर ही एकमात्र स्थान था, जहां आर्टिकल 370 था और पूरे देश में जम्मू-कश्मीर ही एकमात्र स्थान था, जहां तीन दशकों में आतंकवाद ने करीब-करीब 40 हजार लोगों की जान ले ली.

8. पीएम ने कहा कि कभी सरदार पटेल ने कहा था कि अगर कश्मीर का मसला उनके पास रहा होता, तो उसे सुलझने में इतनी देर नहीं होती.आज उनकी जन्म जयंती पर, मैं आर्टिकल 370 को हटाने का फैसला, सरदार साहेब को समर्पित करता हूं.

MODI SHAH
पीएम मोदी के साथ अमित शाह


9. पीएम ने कहा कि आज नॉर्थ ईस्ट का अलगाव, लगाव में बदल रहा है. दशकों पुरानी समस्याएं अब समाधान की ,तरफ बढ़ रही हैं, हिंसा और ब्लॉकेड के एक लंबे दौर से पूरे नॉर्थ ईस्ट को मुक्ति मिल रही है. सरदार साहब कहते थे, भारत में स्थायित्व के लिए बहुत आवश्यक है- Unity of Pupose, Unity of Aims और Unity of Endeavour. हमारे उद्देश्यों में समानता हो, हमारे लक्ष्यों में समानता हो और हमारे प्रयासों में समानता हो.

10. पीएम मोदी ने कहा कि मैं संपूर्ण देश का आह्वान करता हूं, कि आइए हम उस पुरातन उद्घोष को याद करते हुए आगे बढ़ें, जिसने हमें हमेशा प्रेरित किया है.सं गच्छ-ध्वं, सं वद-ध्वं, सं वो मनांसि जानताम् यानि, हम सभी साथ मिलकर चलें, एक स्वर में बात करें, एक मन के साथ आगे बढ़ें

यह भी पढ़ें:  अमित शाह ने कहा- आर्टिकल 370 हटाकर PM मोदी ने आतंकवाद का रास्ता बंद किया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 11:57 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...