लाइव टीवी

जम्मू में तीन मंजिला इमारत ढही, दो दमकलकर्मियों की मौत

भाषा
Updated: February 12, 2020, 4:18 PM IST
जम्मू में तीन मंजिला इमारत ढही, दो दमकलकर्मियों की मौत
बताया गया है क‍ि मलबे में किसी अन्य नागरिक के दबे होने की जानकारी फिलहाल नहीं है. बचाव अभियान जारी है.

दमकल विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि उन्हें सुबह 04 बजकर 48 मिनट पर आग लगने की जानकारी मिली थी और बचाव कार्य के दौरान करीब 5:30 बजे अचानक इमारत ढह गई.

  • Share this:
जम्मू. जम्मू (Jammu) में बुधवार तड़के तीन मंजिला इमारत उस समय ढह गई जब दमकल कर्मी वहां लगी आग पर काबू पाने की कोशिश कर रहे थे. अधिकारियों ने बताया कि गोलेपुल्ली स्थित इमारत के भूमितल पर आराघर था. इसके ढहने से दमकल विभाग के पांच कर्मी सहित कई लोग मलबे में फंस गए. उन्होंने बताया कि दो अधिकारियों और एक नागरिक को मलबे से निकाल लिया गया और तीन अन्य अधिकारियों को वहां से निकालने की कोशिश जारी है.

दमकल विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि उन्हें सुबह 04 बजकर 48 मिनट पर आग लगने की जानकारी मिली थी और बचाव कार्य के दौरान करीब 5:30 बजे अचानक इमारत ढह गई. अधिकारी ने बताया कि मलबे में किसी अन्य नागरिक के दबे होने की जानकारी फिलहाल नहीं है. बचाव अभियान जारी है और इस हादसे के मद्देनजर पूरी सावधानी से राहत, बचाव कार्य किया जा रहा है.

अग्निशमन एवं आपातकालीन सेवा महानिदेशक वी के सिंह ने बताया कि मलबे में एक दमकलकर्मी अब भी दबा है और उसे निकालने के प्रयास जारी हैं. अधिकारियों ने बताया कि जम्मू के गोलेपुल्ली क्षेत्र स्थित यह इमारत आग बुझाने के दौरान ढह गई, जिससे अनेक लोग मलबे में दब गए. इस इमारत के भूतल पर एक आरा मिल थी. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के कर्मी भी राहत अभियान के लिए मौके पर पहुंच गए हैं.

राहत अभियान पर निगरानी रख रहे सिंह ने बताया कि दो दमकलकर्मियों- विमल कुमार रैना और रतन चंद के शव मलबे से निकाल लिए गए हैं, जबकि तीसरे दमकलकर्मी मुहम्मद असलम का पता लगाने के लिए खोज अभियान जारी है. उन्होंने बताया कि अग्निश्मन विभाग को सुबह 04 बजकर 48 मिनट पर इमारत में आग लगने की सूचना मिली थी. इसके बाद दमकल गाड़ियां तुरंत मौके पर भेजी गईं. आग बुझाने के कार्य के दौरान सुबह साढ़े पांच बजे इमारत अचानक से गिर गई.

सिंह ने कहा, 'ऐसा माना जा रहा है कि मलबे में कोई आम नागरिक नहीं फंसा है. हमने सुबह चार आम लोगों को बचाया. हमारे दो कर्मी घायल हो गए. बचाए गए सभी लोगों को अस्पताल ले जाया गया.' उन्होंने कहा कि आरा मिल में लकड़ियों का बड़ा भंडार था. आग के चलते वहां एक गैस सिलेंडर में भी विस्फोट हो गया जिससे इमारत गिर गई.

इमारत गिरने के तुरंत बाद राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) और पुलिस की टीम घटनास्थल पर पहुंचीं और राहत अभियान शुरू कर दिया गया. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की एक टीम भी पठानकोट से जम्मू स्थित घटनास्थल पर भेजी गई जो जारी राहत अभियान में मदद कर रही है.

ये भी पढ़ें- 'केजरीवाल मॉडल' के सहारे उत्तर प्रदेश फतह की तैयारी में प्रियंका गांधी!              14 करोड़ किसानों को अब 6000 रु वाली किसान सम्मान निधि के साथ लाखों के फायदे

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 10:42 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर