भारत की मदद के लिए आगे आया UNICEF, भेजे 3000 ऑक्सीजन सांद्रक; वैक्सीनेशन में भी करेगा मदद

यूनिसेफ ने 3,000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, टेस्ट किट और अन्य सामग्री भारत भेजी है (Pic- News18)

यूनिसेफ ने 3,000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, टेस्ट किट और अन्य सामग्री भारत भेजी है (Pic- News18)

अंतरराष्ट्रीय एजेंसी ने बताया कि वह पूर्वोत्तर और महाराष्ट्र में 25 ऑक्सीजन संयंत्रों को खरीदने एवं स्थापित करने में भी मदद कर रही है और देश के विभिन्न हिस्सो में 70 से अधिक थर्मल स्केनर स्थापित किए हैं.

  • Share this:
नयी दिल्ली/काठमांडू. यूनीसेफ ने शनिवार को बताया कि उसने कोरोना महामारी (Corona epidemic) की दूसरी लहर का सामना कर रहे भारत की मदद के लिए 3,000 ऑक्सीजन सांद्रक (Oxygen concentrator) भेजे हैं. संयुक्त राष्ट्र बाल अधिकार एजेंसी ने बताया कि उसने 500 से अधिक उच्च प्रवाह नासिका नलिकाएं और 85 आरटी-पीसीआर मशीन भी भेजी हैं.

अंतरराष्ट्रीय एजेंसी ने बताया कि वह पूर्वोत्तर और महाराष्ट्र में 25 ऑक्सीजन संयंत्रों को खरीदने एवं स्थापित करने में भी मदद कर रही है और देश के विभिन्न हिस्सो में 70 से अधिक थर्मल स्केनर स्थापित किए हैं.

भारत की स्थिति है विनाशकारी

दक्षिण एशिया के लिए यूनीसेफ के क्षेत्रीय निदेशक जॉर्ज लारिया-अदजेई ने कहा, ‘‘ भारत में जो दृश्य हम देख रहे हैं, वह विनाशकारी है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘सबसे अधिक असुरक्षित परिवार इस प्राणघातक महामारी की भारी कीमत चुका रहे हैं.’’ यूनीसेफ ने अपने सभी साझेदारों से भी कोविड-19 महमारी से निपटने में तुरंत मदद करने की अपील की है.


संयुक्त राष्ट्र भारत की जनता के साथ खड़ा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव के उप प्रवक्ता फरहान हक ने संवाददाता सम्मेलन के दौरान एंतोनियो गुतेरस के एक ट्वीट का हवाला दिया. इस ट्वीट में गुतेरस ने कहा था कि कोरोना महामारी से उत्पन्न संकट के इस दौर में संयुक्त राष्ट्र भारत की जनता के साथ खड़ा है.



ये भी पढ़ेंः- भारत पहुंची रूस की कोरोना वैक्सीन 'स्पूतनिक V', तीसरे चरण के टीकाकरण में मिलेगी मदद

अमेरिका ने भारत भेजी राहत सामग्री

अमेरिका ने राहत सामग्री की एक और खेप भारत भेजी है. ड्यूल्स अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से विमान राहत सामग्री लेकर रवाना हो चुका है और इस समय इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के रास्ते में है. इस अमेरिकी विमान में ऑक्सीजन सिलिंडर, टेस्ट किट और अन्य सामग्री हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज