Exclusive: अमरनाथ यात्रा के दौरान 200 से ज्यादा श्रद्धालुओं की ऐसे बची जान

ITBP के 76 जवान ऐसे हैं जिनके हाथों में बंदूक नहीं बल्कि आक्सीजन सिलेंडर हैं. ये श्रद्धालुओं को जरूरत के वक्त आक्सीजन मुहैया करवा रहे हैं. ये हैं आईटीबीपी के जवान आक्सीजन वारियर जो अमरनाथ यात्रा के मुश्किल बालटाल रूट पर तैनात हैं.

अमित पांडेय | News18India
Updated: July 30, 2019, 4:14 PM IST
Exclusive: अमरनाथ यात्रा के दौरान 200 से ज्यादा श्रद्धालुओं की ऐसे बची जान
अब तक करीब 3 लाख श्रद्धालु बाबा बर्फानी के दर्शन कर चुके हैं
अमित पांडेय
अमित पांडेय | News18India
Updated: July 30, 2019, 4:14 PM IST
पिछले एक महीने से चल रही अमरनाथ यात्रा के दौरान करीब 3 लाख श्रद्धालुओं ने बाबा बर्फानी के दर्शन कर लिए हैं. इन श्रद्धालुओं की सुरक्षा का जिम्मा ITBP पर है. इनमें से ITBP के 76 जवानों के हाथों में बंदूक की जगह आक्सीजन सिलेंडर हैं. ये श्रद्धालुओं को जरूरत के वक्त आक्सीजन मुहैया करवा रहे हैं, ये हैं ITBP के आक्सीजन वारियर जो अमरनाथ यात्रा के मुश्किल बालटाल रूट पर तैनात हैं. अब तक ये लोग करीब 200 लोगों की जान बचा चुके हैं. दरअसल बालटाल रूट में उंचाई बहुत ज्यादा है, जिन श्रद्धालुओं को इन रास्तों पर सांस लेने में तकलीफ होती है. आईटीबीपी के ये जवान तुरंत इनकी मदद के लिए पहुंच जाते हैं.

ITBP के जवान हैं आक्सीजन वारियर
अमरनाथ यात्रा का मुश्किल बालटाल रूट की लंबाई करीब 17 किलोमीटर की है और इसके आसपास का इलाका करीब 27 किलोमीटर लंबा है. इन दोनों को मिलाकर करीब 44 किलोमीटर के दायरे की सुरक्षा आईटीबीपी के जिम्मे है. इसके लिए आईटीबीपी ने 5000 जवान तैनात किए गए हैं. आईटीबीपी की ये आक्सीजन मुहैया करवानेवाली फोर्स भी इन्हीं जवानों का हिस्सा है.

amarnath yatra, itbp, india china border, pilgrimage, pahalgam, baba barfani, paramilitary forces, oxygen, landslide, अमरनाथ यात्रा, आईटीबीपी, भारत, चीन, भारत-चीन सीमा, तीर्थयात्रा, पहलगाम, बाबा बर्फानी, अर्धसैनिक बल
200 श्रद्धालुओं की जान बचा चुके हैं आक्सीजन वारियर


ऐसे मदद करते हैं आक्सीजन वारियर
इन जवानों को खास तरीके के ड्रेस दी जाती है जिसपर ये लिखा होता है कि ये जवान मदद के लिए खड़े हैं. एक जगह से दूसरी जगह इस रूट पर ये जवान लगातार चलते रहते हैं ताकि यात्रियों को पता लग सके कि उनकी मदद करनेवाला कोई है. यात्री को जब जरूरत होती है तो वो पास खड़े जवान को अपनी जरूरत के बारे में वो बताते हैं जो तुरंत ही वायरलेस से इस विशेष दस्ते को बुलाता है या फिर खुद ही ये रास्ते में चल रहे जवान जरूरतमंद लोगों के पास पहुंच जाते हैं.

ये काम भी करते हैं आक्सीजन वारियर
Loading...

अमरनाथ यात्रा शुरू होने के पहले इस खास दस्ते ने जरूरतमंद लोगों को आक्सीजन देने की विशेष ट्रेनिंग ली है. जिन 200 लोगों को इस दस्ते ने आक्सीजन दिया है उसमें करीब 125 पुरुष और 75 महिलाएं हैं, जिनकी उम्र 40 से 60 साल के बीच में है. आक्सीजन किट के साथ तैनात हुए इस दस्ते के जवान 30 मिनट में जरूरतमंद लोगों को आक्सीजन मुहैया करवाने की प्रक्रिया पूरी करते हैं. आक्सीजन मुहैया करवाने के अलावा ये जवान लैंड स्लाइड के वक्त पत्थरों से भी श्रद्धालुओं की जान बचाते हैं. अमरनाथ यात्रा 15 अगस्त तक चलेगी ऐसे में इन्हें उम्मीद है कि इस दस्ते से आक्सीजन लेनेवालों का आंकड़ा और ज्यादा बढ़ेगा.

ये भी पढ़ें -
कांग्रेस सांसद संजय सिंह ने राज्यसभा से दिया इस्तीफा, BJP में कल होंगे शामिल
पंजाबी सिंगर गुरु रंधावा पर हुआ जानलेवा हमला, सीधा सिर पर किया वार
First published: July 30, 2019, 4:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...