घर की सफाई करते वक्त शख्स की लगी लॉटरी, मिली सदियों पुरानी 'चायदानी', कीमत कर देगी हैरान

घर की सफाई करते वक्त शख्स की लगी लॉटरी, मिली सदियों पुरानी 'चायदानी', कीमत कर देगी हैरान
फोटो साभारः ट्विटर/@HansonsUK

इस वाइन ईवेर में खास पीले रंग के चमकीले फूल लगे हुए हैं. हैनसन नीलामी के मालिक चार्ल्स हैनसन का इसके बारे में कहना है कि यह लॉकडाउन की सबसे बड़ी खोज है. यह 8वीं शताब्दी की एक वाइन ईवेर है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 10, 2020, 5:02 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) ने हम लोगों की लाइफ को काफी इफेक्ट किया है. जो लोग कभी घर में नहीं रहते थे वो अचानक घर में भी बंद हो गए और सफाई भी करने लगे. अब जरा ये सोचिए कोरोना लॉकडाउन में आप घर की सफाई करें और किसी अलमारी के कोने में आपको एक बेशकीमती चायदानी हाथ लग जाए. आपको दो पल के लिए ये फिल्मी कहानी लगेगी, लेकिन ब्रिटेन (UK) के डर्बीशायर (Derbyshire) में ऐसा हुआ है. लॉकडाउन (Coronavirus Lockdown) के दौरान अपने घर की सफाई करने वाले एक शख्स को उसके घर पर रखा सदियों पुराना वाइन ईवेर (Wine Ewer) मिल गया.

हैनसन नीलामी घऱ के मुताबिक, वाइन ईवेर जो एक छोटी सी चायदानी से मिलती-जुलती है. ये एक चीनी सम्राट से संबंधित हो सकती है. इस वाइन ईवेर की कीमत 1,00,000 पाउंड (95 लाख रुपये) हो सकती है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये खास वाइन ईवेर बीजिंग-एनामेल्ड ऑब्जेक्ट Qianlong अवधि (1735-99) की हो सकती है और यह 15 सेंटीमीटर की है. हालांकि कुछ रिपोर्ट्स में यह भी दावा किया गया है कि इसे 20,000-40,000 पाउंड के बीच कहीं भी बेचा जा सकता है, लेकिन कोई चीनी खरीदार इसके लिए 1,00,000 पाउंड तक दे सकता है.

क्यों खास है ये वाइन ईवेर?
इस वाइन ईवेर में खास पीले रंग के चमकीले फूल लगे हुए हैं. हैनसन नीलामी के मालिक चार्ल्स हैनसन का इसके बारे में कहा है, यह लॉकडाउन की सबसे बड़ी खोज है. यह 8वीं शताब्दी की एक वाइन ईवर है, चीन में एक महल के निर्माण के दौरान इसे तैयार किया होगा और संभवतया, सम्राट कियानलॉन्ग द्वारा नियंत्रित किया गया था.



रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस खास चायदानी जैसी चीज को 51 साल के अर्ध-सेवानिवृत्त मैनुअल कर्मचारी को ये अपने गैरेज में मिली. इस खास तरह की चीज मिलने के बाद उन्होंने कहा, 'यह टीपॉट काफी समय से हमारे घर में है. मेरी मां इसे अपने कैबिनेट में सजावट के लिए लगाती थीं. हमारा मानना ​​है कि यह मेरे दादा द्वारा चीन से वापस इंग्लैंड लाया गया था जो द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान सुदूर पूर्व में तैनात थे और उन्हें बर्मा स्टार पदक से सम्मानित किया गया था.'

हैनसन का कहना है कि वो 24 सितंबर को ऑनलाइन इसकी नीलामी करेंगे. उन्होंने कहा कि इस बात को बताते हुए हमें काफी खुशी हो रही है कि इसकी कीमत दसियों हजार पाउंड हो सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज