कोरोना का कहर: तिरुमला और सोमनाथ समेत बंद हो गए ये बड़े मंदिर और दरगाह

तिरुमला स्थित भगवान वेंकटेश्‍वर का मंदिर भी भक्‍तों के लिए बंद हो गया है.
तिरुमला स्थित भगवान वेंकटेश्‍वर का मंदिर भी भक्‍तों के लिए बंद हो गया है.

देश में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के खतरे को देखते हुए बड़े मंदिर भी भक्‍तों के लिए बंद हो रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 19, 2020, 7:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के खतरे को देखते हुए बड़े मंदिर भी भक्‍तों के लिए बंद हो रहे हैं. इसी क्रम में गुरुवार को आंध्र प्रदेश के तिरुमला मंदिर (Tirumala Temple) को भी एक हफ्ते तक भक्‍तों के लिए बंद करने का फैसला लिया गया है. मंदिर प्रशासन की जानकारी के अनुसार मंदिर में दर्शन के लिए आए मौजूद भक्‍तों को गुरुवार और शुक्रवार को दर्शन की इजाजत है. इसके बाद मंदिर को एक हफ्ते के लिए बंद कर दिया जाएगा. मंदिर की इस बंदी को आगे भी बढ़ाया जा सकता है.

जगन्‍नाथ मंदिर भी बंद
वहीं तिरुमला मंदिर के अलावा पुरी स्थित श्री जगन्नाथ मंदिर को भी शुक्रवार से 31 मार्च तक श्रद्धालुओं के लिए बंद रखने का फैसला लिया गया है. मंदिर के मुख्य प्रशासक कृष्ण कुमार ने बताया कि मंदिर के पुजारियों एवं सेवकों को मंदिर में पूजा करने की अनुमति होगी. उन्होंने कहा, 'मंदिर में श्रद्धालुओं का प्रवेश कल से 31 मार्च के लिए निलंबित रहेगा. मंदिर के अंदर पूजा अनुष्ठान जारी रहेंगे. इन अनुष्ठानों को करने के लिए पुजारियों को ही मंदिर में प्रवेश की अनुमति होगी.'

सोमनाथ मंदिर भी बंद
कोरोना के मद्देनजर गुजरात सरकार ने भी बड़ा फैसला लिया है. गुजरात के अंबाजी, डाकोर, सोमनाथ, द्वारका, पावागढ़ मंदिर 20 मार्च से भक्‍तों के लिए बंद रहेंगे. गुजरात से महाराष्ट्र में जाने वाली स्टेट ट्रांसपोर्ट की बस सेवा भी बंद कर दी गई है. दूसरे राज्यों से गुजरात में आने वाली बसों की स्क्रीनिंग चेकपोस्ट पर की जाएगी.



वैष्‍णो देवी मंदिर की यात्रा स्‍थगित
इसके अलावा वैष्‍णो देवी की यात्रा भी स्‍थगित कर दी गई है. श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के अनुसार केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय और जम्मू-कश्मीर सरकार द्वारा जारी परामर्श के आलोक में कोरोना वायरस फैलने के खतरे को देखते हुए पवित्र गुफा की यात्रा आज से बंद कर दी गई है. तीर्थयात्रियों और लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए यह निर्णय लिया गया है. जब तक स्थिति पूरी तरह सामान्य नहीं हो जाती तब तक तीर्थयात्रियों से मंदिर दर्शन के लिए न आने का अनुरोध किया जाता है. हालांकि मंदिर में पूजा, आरती और अन्य अनुष्ठान पहले की भांति होते रहेंगे.

इस्‍कॉन मंदिर भी रहेंगे बंद
कोरोना वायरस के खतरे के चलते सरकारी अपील का पालन करते हुए वृंदावन स्थित इस्कॉन (श्रीकृष्ण भावनामृत संघ) की प्रबंध समिति ने बुधवार से 31 मार्च तक मंदिर बंद रखने का निर्णय लिया है. लेकिन, इस बीच मंदिर के पुजारी ठाकुरजी की सेवा-पूजा करते रहेंगे.

त्रयंबकेश्‍वर मंदिर बंद
महाराष्ट्र के नासिक जिले में स्थित त्र्यंबकेश्वर मंदिर सहित दो प्रसिद्ध मंदिर कोरोना वायरस खतरे के मद्देनजर 18 मार्च से श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेंगे. यह जानकारी अधिकारियों ने मंगलवार को दी. अधिकारियों ने कहा कि शहर के बाहरी इलाके में स्थित त्र्यंबकेश्वर शिव मंदिर अगले नोटिस तक बंद रहेगा जबकि कालवन तालुका में सप्तश्रृंगी मंदिर 31 मार्च तक बंद रहेगा.

सिद्धिविनायक मंदिर भी बंद
महाराष्ट्र में कोरोना वायरस फैलने के मद्देनजर मुंबई के प्रसिद्ध सिद्धिविनायक मंदिर को अगली सूचना तक श्रद्धालुओं के लिए बंद करने की घोषणा सोमवार को की गई. एक अधिकारी ने बताया कि राज्य के उस्मानाबाद जिले में स्थित तुलजा भवानी मंदिर को भी श्रद्धालुओं के लिए 17 से 31 मार्च तक बंद कर दिया गया है.

मुंबई के हाजी अली, माहिम दरगाह श्रद्धालुओं के लिए बंद
कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर मुंबई की माहिम दरगाह के साथ-साथ ऐतिहासिक हाजी अली दरगाह में भी श्रद्धालुओं का प्रवेश बंद कर दिया गया है. माहिम दरगाह के प्रबंध न्यासी और हाजी अली दरगाह के न्यासी सुहैल खंडवानी ने पीटीआई से कहा कि सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ से बचने के लिए महाराष्ट्र सरकार के परामर्श के बाद यह निर्णय लिया गया है. इन दोनों धार्मिक स्थलों पर हर साल लाखों श्रद्धालु आते हैं, जिनमें मुस्लिमों के साथ-साथ गैर-मुस्लिम भी शामिल हैं.

यह भी पढ़ें: हाथ धोते हुए नुसरत जहां ने कर दी ऐसी बड़ी चूक, लोगों ने जमकर लगाई क्लास
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज