पश्चिम बंगाल: मुर्शिदाबाद में तृणमूल कांग्रेस के नेता की गोली मारकर हत्या

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेता सैफुल हसन की गोली मारकर हत्या कर दी गई. हसन अपनी मोटरसाइकिल पर कहीं जा रहे थे.

News18Hindi
Updated: July 12, 2019, 5:18 PM IST
पश्चिम बंगाल: मुर्शिदाबाद में तृणमूल कांग्रेस के नेता की गोली मारकर हत्या
तृणमूल कांग्रेस के नेता की गोली मारकर हत्या (प्रतीकात्मक तस्वीर)
News18Hindi
Updated: July 12, 2019, 5:18 PM IST
पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में शुक्रवार दोपहर तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेता सैफुल हसन की गोली मारकर हत्या कर दी गई. हसन अपनी मोटरसाइकिल पर कहीं जा रहे थे. उसी दौरान कुछ अज्ञात हमलावरों ने उसे गोली मार दी. इस हमले में उनकी मौके पर ही मौत हो गई. घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्मार्टम के लिए भेज दिया.

घटना मुर्शिदाबाद जिले के हरिहर इलाके की है. इस गोलीकांड के बाद इलाके में तनाव का माहौल है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. इससे पहले हुगली में टीएमसी नेता दिलीप राम की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. टीएमसी ने घटना के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया था. इस घटना के विरोध ने टीएमसी ने 24 घटें का विरोध भी बुलाया था.



पहले हुई थी तीन TMC कार्यकर्ताओं की हत्या

इससे पहले 14 जून को मुर्शिदाबाद जिले में टीएमसी के तीन काकर्ताओं की गोली मारकर और बम फेंककर हत्या कर दी गई थी, जबकि 9 जून को पश्चिम बंगाल के 24 परगना में टीएमसी और बीजेपी के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई थी. इस झड़प में चार लोगों की मौत हो गई थी. बीजेपी ने आरोप लगाया था कि उसके तीन कार्यकर्ताओं को टीएमसी के लोगों ने गोली मार दी है. उधर, टीएमसी का आरोप है कि उनके एक कार्यकर्ता कायुम मोल्लह की हत्या कर दी गई थी. बताया जा रहा है कि यह झड़प पार्टी के झंडे लगाने को लेकर हुई थी, जिसके बाद दोनों ही तरफ से काफी संख्या में कार्यकर्ता मौके पर पहुंच गए थे.

बता दें कि लोकसभा चुनाव के बाद से पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा का दौर जारी है. इससे पहले भी सत्तारूढ़ टीएमसी और बीजेपी के कार्यकर्ताओं की हत्या के मामले सामने आ चुके हैं.

ये भी पढ़ें- जेल में खाने के लिए युवक ने जानबूझकर चुराई बाइक, फिर CCTV में की ये हरकत
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...