जनता को मनाने की कोशिश में TMC ने लेकिन 'कट मनी' के सवाल का नहीं दे पा रहे जवाब

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee)ने TMC नेताओं से लोगों के सीधे संपर्क करने के लिए हाल ही में एक टोल फ्री नंबर और वेबसाइट भी शुरू किया है.

News18Hindi
Updated: August 11, 2019, 5:27 PM IST
जनता को मनाने की कोशिश में TMC ने लेकिन 'कट मनी' के सवाल का नहीं दे पा रहे जवाब
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने TMC नेताओं से लोगों के सीधे संपर्क करने के लिए हाल ही में एक टोल फ्री नंबर और वेबसाइट भी शुरू किया है.
News18Hindi
Updated: August 11, 2019, 5:27 PM IST
तृणमूल कांग्रेस (Trinmool Congress)के नेता और मंत्री पश्चिम बंगाल  (West Bengal) में पार्टी के जनसंपर्क अभियान के लक्ष्य को हासिल करने की कोशिश में जुटे हैं. हालांकि, उनमें से कई को ‘कट मनी’ और स्थानीय नेतृत्व के ‘अहंकार’ पर सवालों का जवाब देते नहीं बन रहा है. पार्टी के एक पदाधिकारी ने यह जानकारी दी.

चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) और उनकी कंपनी ‘इंडियन पॉलीटिकल एक्शन कमेटी’(आईपीएसी- -IPAC) की सलाह पर तृणमूल कांग्रेस के 1,000 से अधिक नेता अगले 100 दिनों में 10,000 गांवों की यात्रा करेंगे, स्थानीय लोगों के साथ वक्त बिताएंगे और उनकी शिकायतों का निवारण करेंगे.

हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव (Lok Sabha) में उम्मीद के मुताबिक सीटें नहीं जीतने के बाद तृणमूल कांग्रेस ने किशोर और आईपीएसी की सेवा लेने का फैसला किया था.

यह भी पढ़ें:  ममता के खेवैया बने 'पीके' ने किस-किसकी नैया लगाई है पार?

कुछ लोग खुश हैं लेकिन...

तृणमूल कांग्रेस के एक नेता ने कहा, 'कुछ लोग खुश हैं, लेकिन ऐसे भी लोग हैं जो ‘कट मनी’ (Cut Money), स्थानीय नेताओं के अहंकार एवं बदसलूकी तथा उनके खिलाफ लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर हमसे सवाल कर रहे हैं. इन सवालों का जवाब देने में हमें मुश्किल स्थिति का सामना करना पड़ रहा है.'

जनसंपर्क अभियान में भाग लेने वाले पार्टी के नेताओं एवं मंत्रियों में रवींद्रनाथ घोष, ज्योतिप्रियो मलिक, अब्दुर रजाक मुल्ला शामिल हैं.
Loading...

पार्टी नेतृत्व से साझा करेंगे शिकायत

पार्टी के एक अन्य नेता ने कहा, 'कई सारे लोगों ने हमसे पूछा कि हम भ्रष्ट और अहंकारी नेताओं को पार्टी से निकाल बाहर करने में क्यों हिचक रहे हैं? हम अपने अवलोकन को पार्टी नेतृत्व से साझा करेंगे.'

गौरतलब है कि तृणमलू कांग्रेस एवं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने जून में पार्टी के पार्षदों को भ्रष्ट गतिविधियों में शामिल होने के खिलाफ और कट मनी या सरकारी योजनाओं का फायदा देने के एवज में लोगों से अवैध कमीशन लेने के खिलाफ भी आगाह किया था.

मुख्यमंत्री ने पार्टी पदाधिकारियों से लोगों के सीधे संपर्क करने के लिए हाल ही में एक टोल फ्री नंबर और वेबसाइट भी शुरू किया है. (भाषा इनपुट के साथ)

यह भी पढ़ें:  पश्चिम बंगाल में इतना सन्नाटा क्यों?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 11, 2019, 5:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...