Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    पश्चिम बंगाल में चुनाव से पहले ममता के खिलाफ बगावती सुर, मंत्री ने की TMC से अलग रैली

    ममता बनर्जी के खिलाफ बगावती सुर दिखाई दे रहे हैं.
    ममता बनर्जी के खिलाफ बगावती सुर दिखाई दे रहे हैं.

    पश्चिम बंगाल (West bengal) में शुभेंदु अधिकारी टीएमसी में ममता बनर्जी के बाद दूसरे सबसे लोकप्रिय नेता माने जाते हैं.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 12, 2020, 6:09 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्‍ली. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar election 2020) संपन्‍न हो चुका है. अब राजनीतिक दल पश्चिम बंगाल (West bengal) में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं. राज्‍य में अगले साल चुनाव हैं. लेकिन इससे इन चुनावों से पहले ही तृणमूल कांग्रेस (TMC) व ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के खेमे में फूट पड़ती दिख रही है. बंगाल के लोकप्रिय नेता और राज्‍य में परिवहन मंत्री शुभेंदु अधिकारी ने टीएमसी से अलग रैली की है.

    शुभेंदु अधिकारी ने बगावती तेवर दिखाते हुए नंदीग्राम दिवस पर टीएमसी से अलग रैली करते हुए रैली में भारत माता की जय के नारे भी लगाए. अब राज्‍य के राजनीतिक गलियारों में ऐसी चर्चाएं शुरू हो गई हैं कि चुनाव में शुभेंदु अधिकारी मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी को झटका दे सकते हैं. ममता सरकार ने शुभेंदु अधिकारी के करीबी तीन नेताओं की सुरक्षा भी हटा ली है.

    जानकारी के अनुसार राज्‍य के परिवहन मंत्री शुभेंदु अधिकारी की रैली में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तस्वीर भी नहीं लगाई गई. अब पोस्टर से भी ममता बनर्जी की तस्वीर गायब होने से राज्य की सियासत गर्मा गई है. इसके साथ ही यह भी बात सामने आई है कि ममता कैबिनेट की हुई बैठक में राज्‍य के चार मंत्री भी नदारद रहे. इन चार मंत्रियों में शुभेंदु अधिकारी, रजीब बनर्जी, गौतम देब और रवींद्र घोष शामिल हैं. ऐसे में अब चुनाव से पहले सियासी चर्चाएं बढ़ गई हैं.

    पश्चिम बंगाल में शुभेंदु अधिकारी टीएमसी में ममता बनर्जी के बाद दूसरे सबसे लोकप्रिय नेता माने जाते हैं. उन्हें नंदीग्राम आंदोलन का आर्किटेक्ट भी कहा जाता है. खास बात ये है कि शुभेंदु शुरुआती दौर से ही ममता बनर्जी के साथ जुड़े रहे हैं.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज