Assembly Banner 2021

ममता बनर्जी को एक और झटका, TMC विधायक जितेंद्र तिवारी BJP में शामिल

आसनसोल के पूर्व मेयर हुगली में भाजपा में शामिल हो गए (Photo-ANI)

आसनसोल के पूर्व मेयर हुगली में भाजपा में शामिल हो गए (Photo-ANI)

West Bengal Assembly Elections: पश्चिम बर्धमान जिले के पांडेबेश्वर से दो बार के पार्टी विधायक और आसनसोल के पूर्व महापौर जितेंद्र तिवारी मंगलवार को भाजपा में शामिल हो गए.

  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों (West Bengal Assembly Elections) से पहले सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) छोड़ रहे नेताओं में एक और नाम शामिल हो गया है. पश्चिम बर्धमान जिले के पांडेबेश्वर से दो बार के पार्टी विधायक और आसनसोल के पूर्व महापौर जितेंद्र तिवारी मंगलवार को भाजपा में शामिल हो गए. टीएमसी (TMC) नेतृत्व के खिलाफ बगावत करने वाले तिवारी पिछले साल दिसंबर में भाजपा द्वारा उन्हें पार्टी में शामिल करने से मना करने के बाद नाराज हो गए थे. मंगलवार को वह हुगली जिले के श्रीरामपुर में एक कार्यक्रम में पार्टी के राज्य प्रमुख दिलीप घोष की उपस्थिति में भगवा खेमे में शामिल हो गए.

उन्होंने भाजपा में शामिल होने के बाद कहा, "मैं भाजपा में शामिल हुआ हूं क्योंकि मैं राज्य के विकास के लिए काम करना चाहता हूं. टीएमसी में, पार्टी के लिए काम करना संभव नहीं था." तिवारी का इस्तीफा ऐसे समय आया है जब कि ऐसी खबरें आ रही हैं कि तृणमूल कांग्रेस आगामी पश्चिम बंगाल चुनावों के लिए अपने उम्मीदवार सूची से कई मौजूदा विधायकों को हटाने की योजना बना रही है. रिपोर्ट में कहा गया है कि पार्टी अधिक युवाओं, महिलाओं और नेताओं को अपने क्षेत्र में स्वच्छ छवि और स्वीकार्यता के साथ नामित करने की योजना बना रही है.

ये भी पढ़ें- जानिए कौन हैं पीरजादा जिसे लेकर कांग्रेस में मची हुई है रार



ममता ने उम्मीदवारों के नाम पर किया मंथन
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को कालीघाट स्थित अपने आवास पर पार्टी की 12 सदस्यीय चुनाव समिति से मुलाकात की और नामांकन को लेकर मंथन किया. टीएमसी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, "आज चुनाव समिति ने उम्मीदवारों के चयन के संबंध में ममता बनर्जी को अंतिम निर्णय लेने के लिए अधिकृत किया."

सूत्रों ने बताया कि 294 निर्वाचन क्षेत्रों में से लगभग 30 प्रतिशत में 19 विधायक शामिल हैं, जिनके भाजपा में जाने की संभावना है, यहां पर टीएमसी के नए उम्मीदवारों को उतारने की संभावना है. टीएमसी ने 2016 में 294 सदस्यीय सदन में 211 सीटें जीतीं थीं. वाम-कांग्रेस गठबंधन को 77 और भाजपा को तीन सीटें मिली थीं.

इस बार बंगाल में टीएमसी और बीजेपी के बीच कड़ी टक्कर दिखाई दे रही है. यहां आठ चरणों में चुनाव होंगे, जिसकी शुरुआत 27 मार्च को 30 सीटों पर मतदान के साथ होगी. वहीं 2 मई को वोटों की गिनती की जाएगी. दशकों से राजनीतिक रूप से ध्रुवीकृत राज्य में भाजपा पिछले कुछ वर्षों में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के मुख्य प्रतिद्वंद्वी के रूप में उभरी है. 2019 के लोकसभा चुनावों में भाजपा ने 42 में से 18 सीटें जीती थीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज