अपना शहर चुनें

States

लोकसभा में सांसद नुसरत जहां ने अपने संसदीय क्षेत्र के लिए की ये मांग

नुसरत जहां ने रेलवे लाइन निर्माण का मुद्दा सदन में उठाया
नुसरत जहां ने रेलवे लाइन निर्माण का मुद्दा सदन में उठाया

लोकसभा (Loksabha) में गुरूवार को तृणमूल कांग्रेस (Trinmool Congress) की नुसरत जहां (Nusrat Jahan) ने पश्चिम बंगाल (West Bengal) के अपने संसदीय क्षेत्र का मुद्दा सदन में उठाया.

  • Share this:
नई दिल्ली. लोकसभा (Loksabha) में गुरूवार को कई सदस्यों ने अपने अपने क्षेत्रों में रेल परियोजनाओं के विस्तार और नयी रेलगाड़ियों की मांग की. शून्यकाल (Zero Hour) में तृणमूल कांग्रेस (Trinmool Congress) की नुसरत जहां (Nusrat Jahan) ने अपने संसदीय क्षेत्र पश्चिम बंगाल (West Bengal) के बशीरहाट (Bashirhat) में रेलवे संपर्क का विस्तार किये जाने की मांग की. उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में दो वर्ष पहले सर्वेक्षण कार्य भी हुआ लेकिन उसके आगे मामला आगे नहीं बढ़ा. उन्होंने रेल मंत्रालय से इस विषय पर संज्ञान लेने की मांग की.

भाजपा (BJP) के शंकर लालवानी (Shankar Lalwani) ने इंदौर (Indore) से मुंबई (Mumbai) के लिए एक एक्सप्रेस ट्रेन और दिल्ली के लिए तेजस ट्रेन शुरू करने की मांग की. भाजपा के अजय भट्ट ने भी अपने क्षेत्र में रेलवे विस्तार की मांग उठाई.

वक्फ संपत्तियों के अतिक्रमण का मुद्दा भी उठा
तृणमूल कांग्रेस की सांसद सजदा अहमद ने लोकसभा में वक्फ संपत्तियों (Waqf Properties) पर अतिक्रमण का मुद्दा उठाया और कहा कि इन संपत्तियों से जुड़े हजारों मुकदमों की समीक्षा के लिए एक विशेषाधिकार प्राप्त समिति का गठन किया जाना चाहिए. सदन में शून्यकाल के दौरान सजदा ने यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि रिपोर्ट के मुताबिक वक्फ संपत्तियों को लेकर 24 हजार से अधिक मुकदमें चल रहे हैं.
उन्होंने कहा, ‘‘मैं सरकार से आग्रह करती हूं कि इन मुकदमों की समीक्षा के लिए विशेषाधिकार प्राप्त समिति का गठन किया जाए ताकि ये मुकदमे जल्द खत्म हो जाएं और इनको विकसित कर इनका मुस्लिम समुदाय के कल्याण के लिए इस्तेमाल हो सके.’’



गौरतलब है कि केंद्रीय वक्फ परिषद् ने हाल ही में सूचना के आधिकार के जवाब में ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया था कि मौजूदा समय में देश भर में 18000 से अधिक वक्फ संपत्तियों पर अतिक्रमण है.

ये भी पढ़ें-
40 लाख दिल्लीवालों के घर के पक्के कागजात दिलाने वाला बिल लोकसभा में पास

अब आपका नहीं डूबेगा पैसा, चिटफंड बिल को संसद से मिली मंजूरी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज