TMC सांसद नुसरत जहां का गृहमंत्री से सवाल, 'बंगाल के महापुरुषों का इतना अपमान क्यों अमित शाह जी?'

(फाइल फोटो)
(फाइल फोटो)

TMC ने आरोप लगाए हैं कि अमित शाह (Amit Shah) ने जिस मूर्ति पर माला पहनाई है, वह बिरसा मुंडा (Birsa Munda) की नहीं है. माल्यार्पण के दौरान शाह ने ममता सरकार पर सवाल उठाए ते. आज शाह के बंगाल दौरे का दूसरा दिन है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2020, 10:26 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव (Assembly Election) की तैयारियों का बीजेपी (BJP) ने आगाज कर दिया है. पार्टी के वरिष्ठ नेता और गृहमंत्री अमित शाह यहां दो दिन के दौरे पर पहुंचे हैं. उनके इस दौरे के बाद से ही बंगाल में सियासत गर्मा गई है. एक ओर अमित शाह ने जहां ममता सरकार (Mamta Government) पर सवाल उठाए. वहीं, अब बीजेपी के विरोध में टीएमसी सांसद नुसरत जहां (Nusrat Jahan) उतर आईं हैं. नुसरत ने शाह पर बंगाल की संस्कृति का दुरुपयोग करने के आरोप लगाए हैं.

शाह पर लग रहे हैं महापुरुषों के अपमान के आरोप
नुसरत ने ट्वीट किया कि भारतीय जनता पार्टी लगातार बंगाल के महापुरुषों का अपमान कर रही है. उन्होंने लिखा 'ईश्वरचंद विद्यासागर से लेकर बिरसा मुंडा तक, बंगाल के महापुरुषों के प्रति यह कैसे अनादर है, अमित शाह जी?' इसके अलावा उन्होंने शाह पर बंगाल की संस्कृति को राजनीतिक प्रोपेगैंडा के तौर पर इस्तेमाल करने के आरोप लगाए हैं.







आरोप है कि शाह ने गलत मूर्ति को पहनाई माला
दौरे के पहले दिन यानी गुरुवार को शाह बांकुरा पहुंचे थे. यहां उन्होंने बिरसा मुंडा की मूर्ति पर माल्यार्पण किया था. बाद में इस बात पर काफी विवाद हुआ था. टीएमसी ने दावा किया है कि जिस मूर्ति पर शाह ने माल्यार्पण किया है, वह बिरसा मुंडा की नहीं थी. इस मूर्ति के नीचे केवल बिरसा मुंडा की तस्वीर रखी गई थी.



बैठक और आदिवासी परिवार के साथ खाना, ऐसा रहा अब तक का दौरा
गृहमंत्री बुधवार रात कोलकाता पहुंच गए थे, जहां पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनका भव्य स्वागत किया था. अगले दिन शाह ने कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की और बिरसा मुंडा की मूर्ति पर माल्यार्पण किया. इसके बाद उन्होंने एक आदिवासी परिवार के साथ भोजन किया था और मृतक बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिवारों से मिले. शुक्रवार को भी शाह के दिन के खाना का कार्यक्रम मटुआ समुदाय के साथ तय है. दूसरे दिन वह सबसे पहले दक्षिणेश्वर मंदिर पहुंचे थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज