Home /News /nation /

TMC सुप्रीमो ने दिखाई भतीजे पर ममता, पार्टी में नंबर 2 बने रहेंगे अभिषेक बनर्जी

TMC सुप्रीमो ने दिखाई भतीजे पर ममता, पार्टी में नंबर 2 बने रहेंगे अभिषेक बनर्जी

भतीजे अभिषेक बनर्जी के साथ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी. (फाइल फोटो)

भतीजे अभिषेक बनर्जी के साथ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी. (फाइल फोटो)

तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) की सुप्रीमो ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने अपने भतीजे अभिषेक बनर्जी का समर्थन किया है. उन्‍होंने अभिषेक की पार्टी में नंबर दो की हैसियत बनाए रखी है.

कोलकाता. तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) की सुप्रीमो ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने अपने भतीजे अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) का समर्थन किया है. उन्‍होंने अभिषेक की पार्टी में नंबर दो की हैसियत बनाए रखी है. पार्टी में अंतर्कलह के बीच ममता बनर्जी ने आंतरिक संगठन में फेरबदल का पिछले हफ्ते संकेत दिया था. गुटबाजी के कारण पार्टी नेताओं के बयान सुर्खियों में थे. अब अभिषेक बनर्जी को दोबारा टीएमसी का महासचिव बनाया गया है. ममता बनर्जी ने शुक्रवार को तृणमूल की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक की अध्यक्षता की. यह निर्णय लेने वाली टीएमसी की शीर्ष इकाई है. ये बैठक ममता बनर्जी के कोलकाता स्थित आवास पर हुई.

इस बैठक में अभिषेक बनर्जी को जिम्‍मेदारी देने के साथ ही तृणमूल सुप्रीमो ने पूर्वोत्तर में पार्टी की इकाई की जिम्मेदारी कांग्रेस से टीएमसी में आईं सुष्मिता देव और मुकुल संगमा को सौंपी है. पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा को उपाध्यक्ष नियुक्‍त किया गया है. जबकि तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुब्रत बख्शी और चंद्रिमा भट्टाचार्य पहले ही इस पद पर काबिज हैं. इधर, बंगाल सरकार में मंत्री अरूप बिस्वास को पार्टी का कोषाध्यक्ष बनाया गया है. कोलकाता मेयर फिरहाद हकीम को संयोजन प्रभारी नियुक्त किया गया है.

फैसले से संदेश देने की कोशिश 

गौरतलब है कि ममता बनर्जी की पार्टी ने हाल ही में निकाय चुनाव में शानदार सफलता हासिल करते हुए चारों बड़े शहरों में जीत हासिल की है. पार्टी के सूत्र बताते हैं कि इस निर्णय से पार्टी को संदेश देने की कोशिश की गई है. दरअसल जब अभिषेक बनर्जी के समर्थक और अन्य नेताओं के बीच बयानबाजी सुर्खियों में आई थी, तब ही फेरबदल तय मान लिया गया था. पार्टी ने कमेटी के सदस्यों में पिछले हफ्ते फेरबदल किया था.

पार्टी नेताओं के बयानों से उजागर हुए थे मतभेद 

युवा और पुराने नेताओं के बीच बढ़ते विरोध को देखते हुए ममता बनर्जी ने पिछले हफ्ते तत्कालीन राष्ट्रीय पदाधिकारी समिति और इसके तहत आने वाले सभी विभागों को भंग कर दिया था. इस बीच ऐसा माना जा रहा था कि पार्टी कड़े कदम उठा सकती है. इस बीच ममता बनर्जी ने पार्टी के दिग्गजों से भरी इस 20 सदस्यीय कार्यसमिति का गठन किया था. तृणमूल कांग्रेस के कुछ नेताओं और प्रशांत किशोर की अगुवाई वाली आई-पीएसी के कुछ सदस्यों के बीच सार्वजनिक तौर पर बयानबाजी ने भी साफ किया था कि पार्टी के भीतर मतभेद चल रहे हैं. इधर पार्टी में एक व्यक्ति-एक पद को लेकर भी अभियान चलाया गया था.

Tags: Abhishek Banerjee, Mamata banerjee, Trinamool congress

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर