पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ता की हत्या

पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ता की हत्या
पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में तृणमूल कांग्रेस के 40 वर्षीय एक कार्यकर्ता का शव मिला. (सांकेतिक फोटो)

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में टीएमसी (TMC) और बीजेपी (BJP) कार्यकर्ताओं की हत्या का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा. दोनों ही राजनीतिक पार्टी अपने कार्यकर्ताओं की हत्या का आरोप एक दूसरे पर लगा रहे है.

  • भाषा
  • Last Updated: September 15, 2020, 11:19 AM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) के मालदा जिले में तृणमूल कांग्रेस (TMC) के 40 वर्षीय एक कार्यकर्ता का शव मिला. पुलिस (Police) अधिकारी ने बताया कि मृतक की पहचान सुबोध प्रमानिक के रूप में हुई. वह लकड़ी का कारोबार करते थे, और हबीबपुर गांव के रहनेवाले थे. व्यक्ति का शव खेत के निकट से मिला है, वह रविवार शाम में यहां के लिए निकले थे.

पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. तृणमूल कांग्रेस ने स्थानीय भाजपा नेतृत्व को हत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया है. भाजपा नेतृत्व ने हालांकि, इस आरोप को खारिज कर दिया, और मौत के पीछे तृणमूल कांग्रेस के आंतरिक कलह को जिम्मेदार बताया.

यह भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल चुनाव: बीजेपी के हमले के बाद अब हिन्दू वोटरों को लुभाने में जुटीं ममता बनर्जी



आपको बता दें बीते दिन एक बीजेपी कार्यकर्ता का शव पेड़ से लटका मिला था, जो कि आरामबाग के गोघाट का रहने वाला था. बीजेपी ने अपने कार्यकर्ता की हत्या की कड़ी निंदा करते हुए इंसाफ की मांग की थी.
यह भी पढ़ें: रिया चक्रवर्ती के समर्थन में पश्चिम बंगाल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया पैदल मार्च

बंगाल बीजेपी ने टि्वटर हैंडल पर एक वीडियो शेयर करते हुए कहा था कि, एक बार फिर से लोकतंत्र की हत्या. आरामबाग स्थित गोघाट के रहने वाले बीजेपी कार्यकर्ता गणेश रॉय का शव पेड़ पर लटका हुआ मिला. ये राजनैतिक हत्याएं अब रुकनी चाहिए. जो लोग हर हाल में लोकतंत्र की मौत पर चीखते हैं, वे बीजेपी कार्यकर्ताओं की निर्मम हत्या पर चुप है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading