Assembly Banner 2021

बंगाल के बीरभूम में TMC कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे पर फेंके बम, पुलिस बनी रही मूकदर्शक

घटना स्थल पर मौजूद भीड़ (News18)

घटना स्थल पर मौजूद भीड़ (News18)

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में तृणमूल कांग्रेस (TMC) के भीतर का संघर्ष शुक्रवार को हिंसक हो गया. एक गुट ने जहां दूसरे पर बम फेंके तो वहीं दूसरे ने गोली चलाई. घटना बीरभूम जिले (Birbhum) की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 5, 2020, 2:34 PM IST
  • Share this:
बीरभूम. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस (TMC) के भीतर का संघर्ष शुक्रवार को हिंसक हो गया. एक गुट ने कथित तौर पर जहां दूसरे पर बम फेंके तो वहीं दूसरे ने गोली चलाई. यह घटना राज्य के बीरभूम जिले (Birbhum) की है. बताया गया कि खैरासोल में हुई बमबारी में एक व्यक्ति घायल हो गया, दो मोटरबाइक और पंचायत सदस्य की कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई. इसके साथ ही सरकारी परिसर में कई कच्चे बम पाए गए. पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह ने दोनों गुटों के बीच झड़प की पुष्टि की और जांच शुरू कर दी, लेकिन किसी भी तरह की गोलीबारी होने से इनकार किया.

हालांकि, पंचायत भवन पर बमों के निशान देखे जा सकते हैं. कंकरतला पुलिस स्टेशन के बाबूजोरा पंचायत कार्यालय में उस समय हडकंप मच गया, जब दोनों गुट के लोगों ने एक दूसरे पर बम फेंकने शुरू कर दिए और कथित तौर पर गोली चलाई. एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के अनुसार ग्रामीणों ने कहा कि दोनों गुटों के बीच एक कोयला खदान को लेकर संघर्ष चल रहा है. इससे पहले भी अब्दुल रहमान और उज्ज्वल कादर की अगुवाई वाले दोनों गुट आमने-सामने आ चुके हैं.





क्या है पूरे मामले की सच्चाई?
पंचायत यहां कथित तौर पर बड़े पैमाने पर अवैध खनन पर लगाम लगाने की कोशिश कर रही थी, लेकिन उस प्रयास से गुटीय लड़ाई और ज्यादा बढ़ गई. शुक्रवार को हुई हिंसा की मुख्य वजह एक सड़क का घटिया निर्माण बताया जा रहा है. कथित तौर पर रहमान का करीबी उस सड़क का ठेकेदार था और कादर का गुट उसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहा था.

कादर गुट ने दावा किया कि ग्रामीणों ने ठेकेदार की शिकायत करने के लिए पंचायत कार्यालय गए, लेकिन वहां कथित तौर पर अब्दुल रहमान के लोगों ने उनका पीछा किया. इस दौरान उन्होंने पंचायत भवन की छत से बम फेंका और गोलीबारी की.

दिन दहाड़े इस हिंसा ने क्षेत्र में कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं. अपराधियों की पहचान करना मुश्किल साबित हो रहा है क्योंकि सभी ने मास्क पहने हुए थे. इस घटना पर भाजपा की बीरभूम इकाई के प्रमुख श्यामापद मंडल ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस के अंदरुनी झगड़े पार्टी को अंदर से ही खत्म कर देंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज