शादी करके इराक में रिश्तेदारी कायम करना चाहता था केरल का ये आतंकी

प्रतीकात्मक तस्वीर (News18.com)
प्रतीकात्मक तस्वीर (News18.com)

35 वर्षीय मोइदीन (Subahani Haja Moideen) ISIS के उमर अल-हिंदी मॉड्यूल (Omar al-Hindi) का सदस्य था. वो पूरे दक्षिण भारत में आतंकी हमले करवाना चाहता था और इसी साजिश के लिए उसने आईएसआईएस की केरल यूनिट बनाई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 30, 2020, 6:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केरल में कोच्चि की NIA अदालत ने ISIS के आतंकी सुब्हानी मोइदीन  (Subahani Haja Moideen) को आजीवन कारावास (life imprisonment) की सजा सुनाई है. 35 वर्षीय मोइदीन ISIS के उमर अल-हिंदी मॉड्यूल (Omar al-Hindi) का सदस्य था. वो पूरे दक्षिण भारत में आतंकी हमले करवाना चाहता था और इसी साजिश के लिए उसने आईएसआईएस की केरल यूनिट बनाई थी. इसी मॉड्यूल के 6 अन्य सदस्यों को बीते साल सजा सुनाई गई थी. इस मॉड्यूल का भंडाफोड़ 2016 में हुआ था. बताया जाता है कि अब भी इसके कई सदस्य फरार हैं.

इराक में करना चाहता था शादी
एक तमिल परिवार से ताल्लुक रखने वाले मोइदीन की कहानी बेहद खतरनाक है. उसका परिवार कई दशक पहले तमिलनाडु से केरल आकर बस गया था. परिवार व्यापार के पेशे से ताल्लुक रखता था. लेकिन फिर मोइदीन के सिर पर धार्मिक उन्माद सवार हुआ जिसने उसे इतने खतरनाक प्लान के लिए बहकाया. मोइदीन के भीतर इराक को लेकर अलग तरह का आकर्षण था. वो चाहता था कि वहां शादी करके रिश्तेदारी की जाए.

आईएसआईएस के आतंकियों ने पाया था अनफिट
एनआईए के मुताबिक मोइदीन 2015 में चेन्नई से इस्तांबुल के रास्ते इराक के मोसुल पहुंचा था. उसका इरादा आईएसआईएस ज्वाइन करने का था. उसे वहां पर 25 दिनों की धार्मिक और 21 दिनों की शस्त्र ट्रेनिंग दी गई थी. हालांकि उसके ट्रेनर्स ने उसे अनफिट पाया और उसे गार्ड ड्यूटी में लगा दिया. कुछ दिन तक वहां काम करने के बाद मोइदीन को भारत वापस आने की इच्छा हुई लेकिन आईएसआईएस के आतंकियों ने उसे मना कर दिया. फिर वो किसी तरह वहां से भागा और फिर तुर्की के रास्ते भारत पहुंचा.



भारत में तैयार किया नेटवर्क
भारत आने के बाद उसने आईएसआईएस सिंपेथाइजर तलाशने शुरू किए. उनसे अपना जाल सोशल मीडिया पर बिछाया. एनआईए की चार्जशीट के मुताबिक उसने विस्फोटक बनाने के लिए करीब 50 किलोग्राम सामग्री इकट्ठा की थी जो करीब 5 किलोमीटर के इलाके को उड़ा सकती थी.

मोइदीन को सजा सुनाते हुए जज ने कहा-दोषी के कृत्य केरल राज्य की सांस्कृतिक चेतना पर धब्बा हैं. देश के सबसे प्रोग्रेसिव समाज के लिए ये एक धक्के की तरह है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज