कृषि कानूनों का प्रभाव कम करने के लिए विधानसभा में विधेयक या संकल्प पारित करेंगे: अमरिंदर

CM अमरिंदर सिंह ने संकल्प जताया कि किसानों और राज्य को ‘‘काले कानूनों के विनाशकारी प्रभावों’’ से बचाने के लिए जो जरूरी होगा, करेंगे (फाइल फोटो)
CM अमरिंदर सिंह ने संकल्प जताया कि किसानों और राज्य को ‘‘काले कानूनों के विनाशकारी प्रभावों’’ से बचाने के लिए जो जरूरी होगा, करेंगे (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Chief Minister Amarinder Singh) ने कहा, ‘‘हम पीछे नहीं हटेंगे. हम जो संकल्प या विधेयक (Resolution or bill) जरूरी होगा, विधानसभा (Assembly) में पारित करेंगे.’’ उन्होंने कहा कि उनकी सरकार (Government) इन नए कानूनों के खिलाफ उच्चतम न्यायालय (supreme Court) का दरवाजा भी खटखटाएगी.

  • Share this:
संगरूर/समाना. पंजाब (Punjab) के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Chief Minister Amarinder Singh) ने सोमवार को कहा कि उनकी सरकार, केंद्र सरकार (Central Government) के तीन कृषि कानूनों (Agricultural Laws) के ‘खतरनाक प्रभाव’ को समाप्त करने के लिए राज्य विधानसभा (State assembly) में कोई संकल्प या विधेयक पारित करेगी. संगरूर (Sangrur) में बरनाला चौक (Barnala Chowk) और भवानीगढ़ में जनसभाओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने संकल्प जताया कि किसानों और राज्य को ‘‘काले कानूनों के विनाशकारी प्रभावों’’ (Disastrous effects of black laws) से बचाने के लिए जो जरूरी होगा, करेंगे.

सिंह ने कहा, ‘‘हम पीछे नहीं हटेंगे. हम जो संकल्प या विधेयक (Resolution or bill) जरूरी होगा, विधानसभा (Assembly) में पारित करेंगे.’’ उन्होंने कहा कि उनकी सरकार (Government) इन नए कानूनों के खिलाफ उच्चतम न्यायालय (supreme Court) का दरवाजा भी खटखटाएगी. सिंह ने किसानों से कहा, ‘‘क्या आप जरूरत पड़ने पर अडानी या अंबानी के पास जाएंगे, जैसे आप इस समय आढ़तियों (brokers) के पास जाते हैं.’’ उन्होंने केंद्र सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि वह हर वादे से पलट गयी है, चाहे माल और सेवा कर (GST) का संवैधानिक वादा हो या किसानों की आमदनी दोगुनी (income double) करने का हो.

यह भी पढ़ें: चिराग का खुला पत्र, 'BJP-LJP की बनेगी सरकार, JDU को वोट दिया तो...'

राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ता अंतिम सांस तक किसानों के लिए लड़ेंगे


सिंह ने कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ता अंतिम सांस तक किसानों के लिए लड़ेंगे. उन्होंने राहुल गांधी से यह अपील भी की कि यदि वह प्रधानमंत्री बनते हैं तो इन कानूनों को रद्द कर दें. पटियाला के समाना में एक सभा को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि इन कानूनों की वजह से खेती का भविष्य ही दांव पर है. कांग्रेस इस मुद्दों पर लगातार पंजाब में प्रदर्शन कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज