चीन को सबक सिखाने LAC पर 1000 किमी रेंज की मिसाइलें तैनात कर रहा भारत

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच तनाव अभी भी बना हुआ है.
पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच तनाव अभी भी बना हुआ है.

पूर्वी लद्दाख में भारत (India) और चीन (China) की सेना के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव चरम पर है. भारत वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर इन मिसाइलों को तैनात कर चीन के साथ ही पाकिस्तान (Pakistan) को भी अपनी ताकत दिखाना चाहता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 1, 2020, 10:36 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख में भारत (India) और चीन (China) की सेना के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव चरम पर है. दोनों देशों के बीच सैन्य कमांडर स्तर की कई राउंड की बैठक हो चुकी है लेकिन चीन अभी भी अपनी सेना को पीछे हटाने को तैयार नहीं है. चीन की इसी अकड़ को तोड़ने के लिए भारत ने अब वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर 1000 किलोमीटर की रेंज वाली मिसाइलें तैनात करना शुरू कर दिया है. भारत इन मिसाइलों को सीमा पर तैनात कर चीन के साथ ही पाकिस्तान को भी अपनी ताकत दिखाना चाहता है.

बता दें ​कि भारत में अगले महीने होन वाले सातवें परीक्षण के बाद औपचारिक रूप से निर्भय उप-क्रूज मिसाइल को भारतीय सेना और नौसेना में शामिल कर लिया जाएगा. इस मिसाइल को भारतीय रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) तैयार किया है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता वाली रक्षा अधिग्रहण परिषद ने निर्भय सब-सोनिक मिसाइल की औपचारिक शुरुआत को मंजूरी दे दी है. बता दें कि चीन से चल रहे तनाव को देखते हुए सेना ने एलएसी पर बिना समय गंवाए मिसाइल तैनात कर दी है.

बता दें ​कि चीन ने हाल ही में डोकलाम में केडी-63 क्रूज मिसाइल तैनात की थी, जिसके जवाब में अब भारत ने परमाणु क्षमता से संपन्न पृथ्वी-2 का सफल परीक्षण कर चीन को चेतावनी दी थी. सतह से सतह पर मार करने वाली ये मिसाइल परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम है.

इसे भी पढ़ें : Ladakh Standoff : चीन ने सीमा पर लगाई केडी-63 क्रूज मिसाइल तो भारत ने पृथ्वी-2 से दिया जवाब



भारत ने LAC पर तैनात किए टी-90 और टी-72 टैंक
वहीं दूसरी तरफ भारतीय सेना की ओर से LAC पर चुमार-डेमचोक क्षेत्र में बीएमपी-2 इन्फैंट्री कॉम्बैट व्हीकल्स के साथ टी-90 और टी-72 टैंकों की तैनाती की गई है. इन टैंक की खास बात ये है कि ये पूर्वी लद्दाख में माइनस 40 डिग्री सेल्सियस तक के तापमान में सटीत तरीके से दुश्मन पर हमला कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज