दोबारा खुलेंगे सबरीमाला के द्वार, 1000 महिलाओं समेत 2300 सुरक्षाकर्मी तैनात

दोबारा खुलेंगे सबरीमाला के द्वार, 1000 महिलाओं समेत 2300 सुरक्षाकर्मी तैनात
सबरीमाला मंदिर के खुलने पर पूजा करते पंडित (फाइल फोटो-PTI)

पुलिस ने कहा है कि भगवान का दर्शन शांति पूर्वक सम्पन्न करने और भक्तों की सुरक्षा को देखते हुए 2300 सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया है,जिसमें 20 सदस्यों वाली एक कमान्डो टीम है और 20 सदस्यीय एक महिला टीम भी तैनाती की गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2018, 9:09 AM IST
  • Share this:
विशेष पूजा के लिए भगवान अयप्पा का सबरीमाला मंदिर आज खुल रहा है. पिछली बार हुई हिंसा के मद्देनजर पुलिस ने इस बार कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की है. मंदिर में पिछले महीने महिलाओं के प्रवेश के दौरान हुए हिंसक विरोध प्रदर्शन से सबक लेते हुए प्रशासन ने सबरीमाला मंदिर और आसपास के इलाके में चार या दो से अधिक लोगों के एक साथ पूजा करने पर रोक लगा दिया है.

पुलिस ने कहा है कि भगवान का दर्शन शांति पूर्वक सम्पन्न करने और भक्तों की सुरक्षा को देखते हुए 2300 सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया है, जिसमें 20 सदस्यों वाली एक कमान्डो टीम है और 100 सदस्यीय एक महिला टीम भी तैनाती की गई है. इस तरह की किलेबंदी कोपांडलम राजपरिवार की तरफ से बीजेपी और कांग्रेस की आलोचना के बाद की  गई है.

उन्होंने कहा है कि यदि जरूरी हो तो सर्किल इंस्पेक्टर और सब-इंस्पेक्टर रैंक की 50 की उम्र से ऊपर की 30 महिला पुलिस को सन्नीधानम में सुरक्षा के लिए तैनात किया जाएगा. शनिवार मध्य रात्रि से 72 घंटों के लिए पम्बा, निल्क्कल, इवलुगल तथा सन्निधानमन में सीआरपीसी की धारा 144 के अंतर्गत चार या अधिक लोंगो के पूजा पर प्रतिबंध का आदेश दिया गया है.



ये भी पढ़ें: आखिर किस कानून के तहत सबरीमाला में नहीं मिलती थी महिलाओं को एंट्री?
सुप्रीम कोर्ट द्वारा सभी महिलाओं के प्रवेश की अनुमति के बाद यह दूसरी बार दर्शन के लिए मंदिर को खोला जाएगा. गौरतलब है कि पिछले महीने मंदिर में एक हाई वोल्टेज ड्रामा देखा गया था, जब दर्जनों 10-50 की आयु वर्ग की महिलाओं को मंदिर में दर्शन से रोका गया. सुप्रीम कोर्ट के आदेश को लागू करने के लिए एलडीएफ सरकार के प्रयास के बाद पुलिस और आन्दोलन कर्ताओं के बीच झड़प हुई थी.

ये भी पढ़ें: सबरीमाला मंदिर विवाद: सुप्रीम कोर्ट भी नहीं दिला सका महिलाओं को प्रार्थना का अधिकार, मंदिर का गेट बंद

त्रावणकोर चिथिरा थिरुनल के अंतिम राजा बलराम वर्मा के जन्मदिन के अवसर पर श्री चिटिरा अट्टा थिरुनाल की विशेष पूजा के लिए सोमवार शाम 5 बजे मंदिर खोला जाएगा.और उसी दिन रात 10 बजे उसे बंद कर दिया जाएगा. मंदिर का दरवाजा मुख्य पुजारी उन्नीकृष्णन नंंबूदिरी और तांत्र कंधाररू राजीववार संंयुक्त रूप से खोलेंगे.

ये भी पढ़ें: सबरीमाला दर्शन के लिए पहुंची तीन महिलाओं को वापस भेजा, कहासुनी में एक बेहोश
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading