आज का मौसम: चक्रवात टाउते का असर, यूपी-मध्‍य प्रदेश समेत इन राज्‍यों में बारिश का अनुमान

ताउते चक्रवात के कारण केरल में हाईअलर्ट है. (Pic- AP)

ताउते चक्रवात के कारण केरल में हाईअलर्ट है. (Pic- AP)

Weather Forecast Today: मौसम विभाग के मुताबिक (IMD Forecast) के मुताबिक, टाउते तूफान के कारण कई राज्य में एक ओर जहां बारिश में होगी, वहीं तापमान में भी चार से पांच डिग्री सेल्सियस तक गिरावट आ सकती है.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. शक्तिशाली चक्रवाती तूफान टाउते (Tauktae) गुजरात (Gujarat) की ओर बढ़ रहा है. केरल और गोवा में इसके चलते भारी बारिश देखने को मिल रही है. इस तूफान को लेकर राज्‍य सरकारें अलर्ट है. राहत और बचाव दलों को मौके पर तैनात किया गया है. वहीं इस तूफान का असर उत्‍तर प्रदेश, मध्‍य प्रदेश और राजस्‍थान जैसे राज्‍यों पर भी देखने को मिल रहा है. टाउते के कारण मध्‍य प्रदेश और राजस्‍थान के अधिकांश हिस्‍सों में तेज बारिश (Heavy Rain) रिकॉर्ड की गई है. मौसम विभाग के अनुसार उत्‍तर प्रदेश, राजस्‍थान, मध्‍य प्रदेश, महाराष्‍ट्र, गोवा और गुजरात के कई स्‍थानों पर बारिश होगी.

मध्‍य प्रदेश में भारी बारिश का अलर्ट

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार अरब सागर के तटीय इलाकों में सक्रिय चक्रवाती तूफान टाउते के चलते रविवार शाम को मध्य प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में हल्की बारिश हुई. मध्य प्रदेश के भोपाल, होशंगाबाद, उज्जैन एवं जबलपुर संभागों तथा अन्य हिस्सों में रविवार शाम को हल्की बारिश हुई एवं कुछ स्थानों पर 32 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चली.

टाउते के चलते मध्य प्रदेश में नमी आ रही है, जिसके कारण प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में बारिश होने के साथ-साथ तेज हवाएं चल रही हैं. बताया गया है कि सोमवार से अगले दो दिनों तक मध्य प्रदेश के पश्चिमी भागों में कहीं-कहीं पर गरज के साथ बारिश एवं 45 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल सकती हैं.
उन्होंने कहा कि इसके अलावा, सोमवार से अगले दो दिनों तक मध्य प्रदेश के पूर्वी भागों में कहीं-कहीं पर 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने की संभावना है.


राजस्‍थान के कई इलाकों में होगी बारिश



वहीं मौसम विभाग ने टाउते के असर से मंगलवार को राजस्थान के उदयपुर और जोधपुर संभाग के कई जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश होने का अनुमान जताई है. मौसम विभाग ने बताया कि इस चक्रवात का सर्वाधिक असर राजस्थान में 18 और 19 मई को रहेगा और इस दौरान उदयपुर संभाग के एक दो जिलों में 200 मिलीमीटर तक बारिश दर्ज हो सकती है.

इस चक्रवात की वजह से एक ओर जहां बारिश में होगी, वहीं तापमान में भी चार से पांच डिग्री सेल्सियस तक गिरावट आ सकती है. इस दौरान गरज के साथ छींटे पड़ने और 50 से 60 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल सकती हैं. 19 मई को इस चक्रवात का असर अजमेर, जयपुर, भरतपुर, कोटा संभाग के जिलो में भी देखने मिलेगा जिससे गरज के साथ कुछ स्थानों पर मध्यम से भारी बारिश होने का अनुमान है.

विभाग ने 18 मई को उदयपुर संभाग के कुछ जिलों में रेड अलर्ट जबकि 18 और 19 मई के दौरान कुछ जिलों के लिए ओरेंज अलर्ट जारी किया है. सोमवार को राजस्थान के दक्षिण पश्चिम क्षेत्र के पाली, भीलवाड़ा और उदयपुर के आसपास के क्षेत्रों में कहीं-कहीं मध्यम से भारी बारिश होने की संभावना है जबकि 19 मई को इस चक्रवात का असर उत्तर पूर्वी क्षेत्रों में रहेगा और जयपुर, भरतपुर संभाग में विशेष रूप से कुछ इलाकों में भारी बारिश हो सकती है.

महाराष्‍ट्र में भी बारिश

इसके साथ ही चक्रवात टाउते के कारण 17 मई को महाराष्ट्र के मुंबई, उत्तरी कोंकण, ठाणे और पालघर के हिस्सों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है. मौसम विभाग ने रायगढ़ में सोमवार को अत्याधिक भारी बारिश होने का पूर्वानुमान जताया है.

आईएमडी ने बृह्नमुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) को सूचित किया था कि तूफान के शनिवार देर रात या रविवार तड़के मुंबई से कुछ दूरी से गुजरने की संभावना है, इसलिए अधिक नुकसान होने की आशंका नहीं है, लेकिन मुंबई, ठाणे और पालघर में तेज हवाएं चल सकती हैं और भारी बारिश हो सकती है.


पुणे आईएमडी में पर्यावरण अनुसंधान एवं सेवाएं विभाग के वरिष्ठ अधिकारी के एस होसालिलर ने ट्वीट किया, 'ताजा मौसम पूर्वानुमान के मुताबिक, चक्रवात सोमवार दोपहर के आसपास पहुंच सकता है. हालांकि, यह 200 किलोमीटर से अधिक दूरी से गुजर सकता है. फिर भी, उत्तरी कोंकण, मुंबई, ठाणे और पालघर के दूर-दराज के भागों में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है. रायगढ़ में अत्याधिक भारी बारिश की संभावना है. 16-17 मई को तेज हवाएं चल सकती हैं और समुद्र अशांत रह सकता है.'

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज