आज का मौसम: अगले 3 से 4 दिन इन राज्‍यों में होगी जबरदस्‍त बारिश

कई राज्‍यों में बारिश का पूर्वानुमान. (File pic AP)

कई राज्‍यों में बारिश का पूर्वानुमान. (File pic AP)

Weather Forecast Today: भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने जानकारी दी है कि महाराष्‍ट्र के उत्‍तरी तटीय क्षेत्र से लेकर केरल के उत्‍तरी तटीय क्षेत्र तक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. दक्षिण-पश्चिम मानसून (Monsoon) भारत के कई हिस्‍सों में पहुंच चुका है. इसके कारण अच्‍छी बारिश (Rain) हो रही है. इस बीच भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने जानकारी दी है कि महाराष्‍ट्र के उत्‍तरी तटीय क्षेत्र से लेकर केरल के उत्‍तरी तटीय क्षेत्र तक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है. इसके कारण अगले 4-5 दिनों तक पश्चिमी तटीय क्षेत्रों और दक्षिणी राज्‍यों में तेज बारिश होने का अनुमान है.

इसके अलावा मौसम विभाग ने जानकारी दी है कि 11 जून के आसपास बंगाल की खाड़ी के उत्‍तरी इलाके में भी निम्‍न दबाव का क्षेत्र उत्‍पन्‍न होगा. इसके असर से दक्षिण पश्चिम मानसून ओडिशा, पश्चिम बंगाल, बिहार और झारखंड में 2‍ दिन बारिश कराएगा.

वहीं पूर्वी और मध्‍य भारत के कई हिस्‍सों में 10 जून के बाद से बारिश होगी. ओडिशा में 11 जून तक भारी बारिश का अनुमान है. झारखंड, पूर्वी मध्‍य प्रदेश, विदर्भ और छत्‍तीसगढ़ में भी 11 जून तक भारी बारिश का अनुमान जताया गया है. इसके साथ ही अरुणाचल प्रदेश में 8 जून, असम और मेघालय में 10 जून तक, पश्चिम बंगाल के सब हिमालयन क्षेत्र व सिक्किम में 9 जून तक और नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में 8 जून तक भारी बारिश का अनुमान है.

बता दें कि दक्षिण पश्चिम मानसून चार दिन की देरी से पूर्वोत्तर भारत भी पहुंच चुका है. इस बार मानसून केरल में भी दो दिन की देरी से 3 जून को पहुंचा था. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि तीन दिनों के अंदर यह पूरे केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के कुछ हिस्सों में पहुंच चुका है.


वहीं महाराष्ट्र में इस सप्ताह के दौरान मुंबई तथा राज्य के अन्य तटीय क्षेत्रों में भारी बारिश के पूर्वानुमान के मद्देनजर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने किसी अनहोनी से निपटने के लिए राज्य प्रशासन को मुस्तैद रहने का आदेश सोमवार को दिया. उन्होंने राज्य प्रशासन को निर्देश दिया कि निचले स्थानों, क्षतिग्रस्त भवनों और भूस्खलन वाली जगहों में रहने वालों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जाए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज