Assembly Banner 2021

Today's Weather forecast: कई राज्यों में हो सकती है भारी बारिश, उत्तर भारत में लू नहीं चलने के आसार

कई राज्‍यों में है बारिश का अनुमान. (File pic)

कई राज्‍यों में है बारिश का अनुमान. (File pic)

Today Weather News: मानसून से पहले के दिनों में बंगाल की खाड़ी और अरब सागर के ऊपर चक्रवाती प्रवाह का बनना एक सामान्य घटनाक्रम है.

  • Share this:
Weather Report (आज का मौसम, 2 अप्रैल): देश के अलग-अलग हिस्सों में शुक्रवार से चिलचिलाती गर्मी से राहत मिलेगी. भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए बहुत भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. मौसम विभाग ने अगले दो से तीन दिनों तक अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, असम, ओडिशा, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश के लिए भारी बारिश की भविष्यवाणी की है.

विभाग ने कहा कि एक चक्रवाती प्रवाह के चलते दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी और पास के दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बन गया हैमौसम विभाग ने कहा है कि इसकी वजह से दक्षिणी असम, मेघालय, त्रिपुरा और मिजोरम में भूस्खलन और निचले इलाकों के जलमग्न होने जैसी घटनाएं हो सकती हैं.

 दो से तीन दिनों तक लू नहीं चलेगी
मानसून से पहले के दिनों में बंगाल की खाड़ी और अरब सागर के ऊपर चक्रवाती प्रवाह का बनना एक सामान्य घटनाक्रम है. मौसम विभाग ने कहा है कि इसके प्रभाव के चलते अंडमान निकाबोर द्वीपसमूह में दो अप्रैल तक गरज के साथ व्यापक बारिश होने और तेज हवाएं चलने की संभावना है. विभाग ने मछुआरों से कहा है कि वे इस दौरान संबंधित सागर क्षेत्रों में जाने से बचें.
मौसम विभाग ने यह भी कहा कि उत्तर और पश्चिम भारत के लोगों को शुक्रवार से बढ़ते तापमान से राहत मिलेगी. कहा गया कि अगले दो से तीन दिनों तक लू नहीं चलेगी. आईएमडी ने एक ट्वीट में कहा, "अगले 24 घंटे में पंजाब, उत्तरी राजस्थान, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली, पश्चिम उत्तर प्रदेश और उत्तर-पश्चिम मध्य प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में  (30 से 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार) से हवाएं चलेंगी.



ओडिशा में 15 स्थानों पर तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के पार
भारत मौसम विज्ञान विभाग ने बताया कि ओडिशा में कम से कम 15 स्थानों पर बृहस्पतिवार को तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया गया. मौसम विभाग के पूर्वानुमान में बताया गया कि शुक्रवार से बारिश की संभावना के कारण दिन के तापमान में गिरावट हो सकती है.

मौसम विभाग के बुलेटिन के अनुसार, करीब 15 जगहों पर दिन का तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया गया और कोयला संपन्न अंगुल तथा तालचर में पारे का स्तर सर्वाधिक रहा, जो 42.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. राजधानी भुवनेश्वर में तापमान 39.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

अप्रैल से जून तक दिन का तापमान सामान्य से अधिक रहने का अनुमान : आईएमडी
आईएमडी ने गर्मियों से संबंधित अपने पूर्वानुमान में कहा है कि उत्तर और पूर्वी भारत में अप्रैल से जून तक दिन का तापमान सामान्य से अधिक रह सकता है. आईएमडी ने कहा कि दक्षिण भारत के अधिकतर हिस्सों, पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों, पूर्वोत्तर आदि क्षेत्रों में अधिकतम तापमान के सामान्य स्तर से कम रहने का अनुमान है.

मौसम विज्ञान विभाग ने कहा, 'आगामी गर्मियों के मौसम (अप्रैल से जून)में, उत्तर, उत्तर-पश्चिम के अधिकांश हिस्सों और पूर्व मध्य भारत के कुछ हिस्सों में अधिकतम तापमान के सामान्य से ऊपर रहने का अनुमान है.' उल्लेखनीय है कि देश के कई हिस्सों में मार्च महीने में ही अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से ऊपर चला गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज