आज का मौसम, 7 मई: पश्चिमी यूपी समेत देश के कई राज्यों में तेज हवा के साथ बारिश के आसार

  (प्रतीकात्मक फोटो)

(प्रतीकात्मक फोटो)

मौसम विभाग के अनुसार अरुणाचल प्रदेश, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, असम और मेघालय में गरज के साथ बारिश होने के आसार हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली.  भारत मौसम विभाग (IMD) के अनुसार देश के कई राज्यों में अगले 24 घंटे में तेज हवा के साथ भारी बारिश हो सकती है. दक्षिण से उत्तर और पूर्वोत्तर तक के राज्यों में बारिश और तेज हवा के आसार हैं. मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार को अरुणाचल प्रदेश, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, असम और मेघालय में  गरज के साथ बारिश होने के आसार हैं. इसके साथ ही हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, और सिक्किम में भी बारिश संभव है. नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, केरल, और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह पर भी बारिश और आंधी के आसार जताए गए हैं. जम्मू और कश्मीर में छिटपुट बारिशहो सकती है. साथ ही गंगीय पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड, ओडिशा, गोवा, कर्नाटक, तमिलनाडु और लक्षद्वीप पर बारिशअनुमान लगाया गया है.

लद्दाख में भी बारिश संभव है. पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में बारिश और आंधी की संभावना है. राजस्थान, गुजरात और मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में अधिकतम तापमान  40 ° C से ऊपर हो सकता है. मौसम विभाग ने कहा है कि उत्तर प्रदेश के आगरा, टूंडला, फिरोजाबाद, सिकंदराबाद, मैनपुरी, कासगंज, एटा और आसपास के इलाकों में अगले 2 घंटों के दौरान बारिश होगी.

1 जून को केरल में मानसून के आसार

वहीं भारत मौसम विज्ञान विभाग के विस्तृत पूर्वानुमान के अनुसार केरल में मॉनसून का अपने सामान्य समय पर एक जून के करीब आगमन होगा. पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय में सचिव एम राजीवन ने बृहस्पतिवार को इस बारे में बताया. उन्होंने बताया कि भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) 15 मई को आधिकारिक मॉनसून पूर्वानुमान जारी करेगा.
उन्होंने ट्वीट किया, ‘मॉनसून 2021 अपडेट : भारत मौसम विज्ञान विभाग के विस्तृत पूर्वानुमान के अनुसार केरल में एक जून के करीब मॉनसून का आगमन होगा. यह आरंभिक पूर्वानुमान है. भारत मौसम विज्ञान विभाग का आधिकारिक मॉनसून पूर्वानुमान 15 मई को और बारिश से संबंधी पूर्वानुमान 31 मई को जारी होगा.’

आईएमडी ने बताया कि दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के इस साल सामान्य रहने के आसार हैं. देश में 75 प्रतिशत बारिश दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के कारण होती है. दीर्घावधि के हिसाब से औसत बारिश 98 प्रतिशत तक होगी और इसमें पांच प्रतिशत की कमी-वृद्धि हो सकती है.

दिल्ली के मौसम में आया बदलाव



दिल्ली में बृहस्पतिवार को अपराह्न में मौसम में अचानक बदलाव आया. आसमान में बादल छा गए और दिल्ली के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश होने से तापमान में थोड़ी गिरावट आयी. इससे दिल्लीवासियों को काफी राहत मिली. मौसम विभाग ने दिन में हल्की बारिश या बूंदाबांदी की संभावना के साथ आमतौर पर आसमान में बादल छाये रहने का पूर्वानुमान जताया था.

दिल्ली में गरज चमक के साथ धूल भरी हवाएं चलीं. इससे पहले बृहस्पतिवार सुबह में गर्मी रही क्योंकि न्यूनतम तापमान 26.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से दो डिग्री अधिक था.

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़े के अनुसार सुबह 9 बजे दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक 153 दर्ज किया गया जो 'मध्यम' श्रेणी में आता है. सुबह 8.30 बजे सापेक्ष आर्द्रता 59 प्रतिशत दर्ज की गई. मौसम विभाग के अनुसार अधिकतम तापमान 39 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज