आज का मौसम, 7 अप्रैल: राजस्थान के कुछ हिस्सों में आंधी-बारिश के आसार, दिल्ली में गिर सकता है तापमान

आज के मौसम का हाल जानें यहां

आज के मौसम का हाल जानें यहां

Today's Weather News: गले 24 घंटों के दौरान दक्षिण पश्चिम उत्तर प्रदेश और राजस्थान के अलग-अलग हिस्सों में लू की आशंका है और अगले दो दिनों के दौरान मध्य प्रदेश और पूर्वी विदर्भ क्षेत्र में गर्मी की लहर बढ़ने की उम्मीद है.

  • Share this:
मौसम विभाग ने अगले दो दिनों के दौरान उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान और महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र में लू  की चेतावनी दी है. विभाग ने हाल ही में बताया था कि मार्च महीने में  पश्चिम मध्य प्रदेश, विदर्भ, राजस्थान, पूर्वी उत्तर प्रदेश, ओडिशा, छत्तीसगढ़, सौराष्ट्र और कच्छ, पूर्वी मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली सहित देश के कई हिस्सों में मार्च में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज किया गया था.

आईएमडी के अनुसार 9 और 10 अप्रैल को अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय में बहुत भारी बारिश, गरज, बिजली और आंधी (30-40 किलोमीटर प्रति घंटे) के आसार हैं. 10 अप्रैल को अरुणाचल प्रदेश में भी भारी वर्षा होने की संभावना है.

विभाग ने कहा था कि अगले 24 घंटों के दौरान दक्षिण पश्चिम उत्तर प्रदेश और राजस्थान के अलग-अलग हिस्सों में लू की आशंका है और अगले दो दिनों के दौरान मध्य प्रदेश और पूर्वी विदर्भ क्षेत्र में गर्मी की लहर बढ़ने की उम्मीद है. IMD की ओर से कहा गया है कि अगले 24 घंटों के दौरान पश्चिम राजस्थान और पूर्वी राजस्थान में कुछ स्थानों पर धूल भरी आंधी, गरज और तेज़ हवाएँ (40-50 किलोमीटर प्रति घंटा) चलने की संभावना है.

पश्चिमी राजस्थान के कुछ हिस्सों में बादल गरजने के साथ तेज आंधी की संभावना
पश्चिमी राजस्थान के जैसलमेर, नागौर, बीकानेर, गंगानगर, हनुमानगढ़ और चूरू जिलों में मंगलवार दोपहर बाद या रात्रि के समय कहीं-कहीं बादल गरजने के साथ तेज आंधी और हल्की बारिश होने की संभावना है. जयपुर मौसम केंद्र के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से उत्तर पश्चिमी राजस्थान में दबाव क्षेत्र बनने से मंगलवार दोपहर बाद अथवा रात्रि के समय पश्चिमी राजस्थान के जैसलमेर, नागौर, बीकानेर, गंगानगर, हनुमानगढ़ और चूरू जिलों में कहीं-कहीं मेघगर्जन के साथ तेज आंधी चलने और हल्की बारिश होने की संभावना है.

उन्होंने बताया कि सात अप्रैल से इसका असर कम होगा जिसके बाद एक बार फिर मौसम शुष्क रहेगा. मौसम के मिजाज को देखते हुए किसानों को यह सलाह दी जाती है कि जो फसलें कट कर तैयार हो चुकी हैं या खलिहान में अब भी पड़ी है, उसका सुरक्षित स्थान पर भंडारण करें.

विभाग ने कोटा, सवाईमाधोपुर, बूंदी, जयपुर, अलवर, भीलवाड़ा, भरतपुर, चित्तौडगढ़, बाड़मेर, बीकानेर, जैसलमेर, जोधपुर, पाली, जालौर, नागौर, चूरू जिलों में कहीं-कहीं लू चलने की संभावना जताई है. राज्य के अधिकतर हिस्सों में अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस से लेकर 43.4 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया, वहीं न्यूनतम तापमान 17.4 डिग्री सेल्सिलयस से लेकर 26.2 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया.



दिल्ली में अधिकतम तापमान 38.2 डिग्री सेल्सियस

दिल्ली में मंगलवार को अधिकतम तापमान 38.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से तीन डिग्री सेल्सियस अधिक था. भारत मौसम विज्ञान विभाग ने यह जानकारी दी. विभाग की ओर से कहा गया कि न्यूनतम तापमान 20.4 डिग्री सेल्सियस रहा जो सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस अधिक दर्ज किया गया.

एक अधिकारी ने बताया कि पश्चिमी हिमालय में पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के कारण आने वाले दिनों में अधिकतम तापमान एक से दो डिग्री सेल्सियस गिर सकता है. इससे पहले आईएमडी के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा था कि दिल्ली में 11-12 अप्रैल तक ग्रीष्म लहर चलने की आशंका नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज