लाइव टीवी

कोविड-19 मरीजों के लिए कब्रगाह बना अहमदाबाद सिविल अस्पताल! अब तक इतनी मौतें

News18Hindi
Updated: May 21, 2020, 3:47 PM IST
कोविड-19 मरीजों के लिए कब्रगाह बना अहमदाबाद सिविल अस्पताल! अब तक इतनी मौतें
कोविड-19 से अब तक हुई कुल 749 मौतों में से 351 मौतें शहर के असारवा क्षेत्र में स्थित अहमदाबाद सिविल अस्पताल में हुई हैं.

असारवा क्षेत्र में स्थित इस प्रमुख सिविल अस्पताल को एशिया में सबसे बड़े नगर निकाय अस्पतालों में से एक माना जाता है.

  • Share this:
अहमदाबाद. गुजरात (Gujarat) में अब तक कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के कारण हुई कुल मौतों में से लगभग 50 प्रतिशत मौतें केवल अहमदाबाद सिविल अस्पताल (Ahmadabad Civil Hospital) में हुई हैं, जो कोविड-19 (Covid-19) मरीजों के लिए कब्रगाह बनता जा रहा है. नगर निकाय द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, गुजरात भर में कोविड-19 से अब तक हुई कुल 749 मौतों में से 351 मौतें शहर के असारवा क्षेत्र में स्थित अहमदाबाद सिविल अस्पताल में हुई हैं.

एशिया के सबसे बड़े निकाय अस्पतालों में से एक
अहमदाबाद में कोरोना वायरस रोगियों का इलाज करने वाले अन्य सरकारी अस्पतालों में सोला सिविल अस्पताल और सरदार वल्लभभाई पटेल (एसवीपी) अस्पताल हैं. असारवा क्षेत्र में स्थित इस प्रमुख सिविल अस्पताल को एशिया में सबसे बड़े नगर निकाय अस्पतालों में से एक माना जाता है. यहां कोविड-19 रोगियों के इलाज के लिए 1,200 बेड आवंटित किए गए हैं.

338 मरीज हुए ठीक



अहमदाबाद नगर निगम द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, बुधवार तक, असारवा के सिविल अस्पताल में 351 कोविड​​-19 रोगियों की मृत्यु हो चुकी है, जबकि 338 लोग अब तक यहां से ठीक हो कर जा चुके हैं. इसके अलावा, एसवीपी अस्पताल में 120 मरीजों की मौत हो गई जबकि 935 को वहां से छुट्टी दे दी गई है. सोला सिविल अस्पताल में, 29 कोविड​​-19 रोगियों की अब तक मौत हो चुकी है और 53 रोगी बीमारी से उबर चुके हैं.



अहमदाबाद के कांग्रेस विधायक गयासुद्दीन शेख ने मंगलवार को सिविल अस्पताल में उच्च मृत्यु दर और ठीक होने की दर कम होने पर सवाल उठाए और मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) के हस्तक्षेप की मांग की.

16 अस्पतालों को जारी किया गया नोटिस
कोविड-19 (Covid-19) के मरीजों को भर्ती करने से मना करने और उन्हें सरकारी अस्पताल भेजने के मामले में अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) ने 16 निजी अस्पतालों को नोटिस जारी किया. महामारी रोग अधिनियम के तहत एएमसी ने आरोप लगाया कि उसके आदेश और अहमदाबाद चिकित्सा संघ की अपील के बावजूद 16 निजी अस्पतालों ने कोविड-19 मरीजों को भर्ती करने और उनसे सहयोग करने से मना कर दिया. विज्ञप्ति में कहा गया कि नगर निकाय ने 16 मई को एक आदेश जारी करते हुए 16 अस्तपालों को कोविड-19 के इलाज के लिए निर्दिष्ट किया था और उन्हें एएमसी द्वारा भेजे मरीजों को 50 प्रतिशत बेड मुहैया कराने को कहा था.

ये भी पढ़ेंः-
Lockdown: आज से शुरू हुई 200 ट्रेनों के लिये टिकट बुकिंग, कई ट्रेनों की कुछ ही मिनट में सीट हुई फुल



 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 21, 2020, 3:31 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading