कांच की 'विस्टाडोम' ट्रेन से धरती पर स्वर्ग का नज़ारा देख सकेंगे यात्री

विस्टाडोम कोच की छत कांच की बनी होती है, इसकी खिड़कियां भी बड़ी होती हैं ताकि ट्रेन से बाहर के नज़ारे का लुत्फ़ उठाया जा सके. चेयर कार वाली इस ट्रेन में पैंट्री कार भी होगी साथ ही इसमे हीटर भी चलेगा

Chandan Kumar | News18India
Updated: July 30, 2019, 3:34 PM IST
कांच की 'विस्टाडोम' ट्रेन से धरती पर स्वर्ग का नज़ारा देख सकेंगे यात्री
इस खास ट्रेन से बर्फबारी देख सकेंगे सैलानी
Chandan Kumar | News18India
Updated: July 30, 2019, 3:34 PM IST
यदि आप किसी ऐसी ट्रेन से यात्रा करना चाहते हैं जिसके अंदर से आप बर्फबारी का आनंद ले सकें, जिसकी छत से भी आप बाहर का मौसम देख सकें तो ये खबर आपके लिए ही है. भारतीय रेलवे कश्मीर घाटी में जल्द ही विस्टाडोम कोच वाली ट्रेन शुरू करने वाला है. इससे घाटी के सैलानियों को अलग ही अंदाज़ में बर्फबारी देखने का आनंद मिलेगा. विस्टाडोम कोच की छत कांच की बनी होती है साथ ही इसकी खिड़कियां भी ज़्यादा बड़ी होती हैं ताकि ट्रेन से बाहर के नज़ारे का लुत्फ़ उठाया जा सके.

इस वजह से नहीं शुरू हो पा रही थी ट्रेन
साल 2017 के बजट में ही कश्मीर घाटी में एसी ट्रेन शुरू करने का ऐलान किया गया था. लेकिन पिछले साल इस ट्रेन का ट्रायल होने का बाद भी इसे शुरू नहीं किया जा सका है. इसीलिए करीब 1 साल से विस्टाडोम कोच वाली एसी ट्रेन बडगाम स्टेशन पर खड़ी है. दरअसल विस्टाडोम कोच वाले इस एसी ट्रेन को लेकर स्थानीय प्रशासन और रेलवे को आशंका थी कि घाटी में बिगड़े माहौल में ट्रेन पर पत्थरबाज़ी होने से ट्रेन के साथ ही इसमें सवार मुसाफिरों को ख़तरा हो सकता है. लेकिन सूत्रों के मुताबिक़ उसके बाद रेलवे को यह ट्रेन शुरू करने की हरी झंडी मिल गई है.

भारतीय रेल, विस्टाडोम कोच, पर्यटन, कश्मीर घाटी, बर्फबारी, कांच की ट्रेन, आतंक, Indian railway, wistadome coach, trains, snowfall, tourism, kashmir valley, kashmir tourism, terror, militancy
विस्टाडोम कोच की खिड़कियां बड़ी और छत कांच की होती हैं.


कश्मीर में रेल सेवा
कश्मीर घाटी में बनिहाल से बारामुला के बीच 137 किलोमीटर तक रेल सेवा चल रही है. यह ट्रेन बनिहाल, काज़ीगुंड, अनंतनाग, श्रीनगर, बडगाम, सोपोर होते हुए बारामुला तक जाती है. कानून-व्यवस्था के बिगड़े हालात की वजह से यहां पिछले साल 60 बार ट्रेन सेवा को आंशिक रूप से बंद करना बड़ा था जबकि करीब 30 बार यह रेल सेवा पूरी तरह से बंद करनी पड़ी थी.

भारतीय रेल, विस्टाडोम कोच, पर्यटन, कश्मीर घाटी, बर्फबारी, कांच की ट्रेन, आतंक, Indian railway, wistadome coach, trains, snowfall, tourism, kashmir valley, kashmir tourism, terror, militancy
इस ट्रेन से कश्मीर घाटी के पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा.

Loading...

घाटी के पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा
सैलानियों को इस ट्रेन के अंदर से कश्मीर के खुबसूरत नज़ारे और बर्फ़बारी देखने का मौका मिलेगा. इससे कश्मीर घाटी में पर्यटन को भी खूब बढ़ावा मिलेगा. साथ ही स्थानीय लोगों के लिए यह ट्रेन काफ़ी फायदेमंद हो सकती है. चेयर कार वाली इस ट्रेन में पैंट्री कार कार की भी सुविधा होगी और सर्दियों के दौरान ट्रेन के अंदर हीटर भी चलाया जाएगा जिसके लिए ट्रेन के आगे और पीछे खास कोच लगाए गए हैं. विस्टाडोम कोच होने के कारण इसका किराया कुछ अधिक रखा जाएगा.

ये भी पढ़ें - महाराष्ट्र की राजनीति में दो शब्दों का बोलबाला, बोलते ही जाता है हाईकमान को फोन

पंजाबी सिंगर गुरु रंधावा पर हुआ जानलेवा हमला, सीधा सिर पर किया वार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 30, 2019, 2:49 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...