अपना शहर चुनें

States

Farmers Protest: कोई देशविरोधी नारा नहीं, बस तय रूट पर ही निकालें ट्रैक्टर रैली- किसानों के सामने पुलिस ने रखीं शर्तें

ट्रैक्टर परेड राजपथ पर आधिकारिक गणतंत्र दिवस परेड की समाप्ति के बाद शुरू होगी. (फाइल)
ट्रैक्टर परेड राजपथ पर आधिकारिक गणतंत्र दिवस परेड की समाप्ति के बाद शुरू होगी. (फाइल)

Farmers Protest: इधर किसानों ने भी चेतावनी दे दी है कि दिल्ली पुलिस अनुमति नहीं देगी तब भी रैली निकलेगी. किसान लंबे समय से आउटर रिंग रोड पर ट्रैक्टर मार्च निकालने की योजना बना रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 24, 2021, 9:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) का विरोध कर रहे किसानों ने 26 जनवरी को राजधानी दिल्ली में ट्रैक्टर रैली निकालने का ऐलान किया है. हालांकि, दिल्ली पुलिस ने किसानों को दिल्ली के अंदर रैली निकालने की अनुमति नहीं दी है. इसके संबंध में किसानों ने रविवार को दिल्ली पुलिस को आवेदन सौंपा है. किसानों की तरफ से आवेदन मिलने के बाद आज दिल्ली पुलिस बड़ा ऐलान कर सकती है. रविवार को पुलिस मुख्यालय में ट्रैक्टर रैली को लेकर प्रेस वार्ता होने जा रही है. यहा प्रेस कॉन्फ्रेंस शाम 4.30 पर होगी.

दिल्ली पुलिस सूत्रों के मुताबिक, किसानों ने टैक्टर रैली को लेकर पुलिस से लिखित में परमिशन मांगी है. पुलिस को कल देर रात ही परमिशन का लेटर मिला है. इस परमिशन के लेटर में पुलिस और किसानों की आम सहमति से जो रुट तय हुए हैं, उनका भी जिक्र है. पुलिस ने किसानों को कुछ अपनी शर्तें दी है, जिन पर किसानों को अपना जवाब देना है. दिल्ली पुलिस ने साफ किया है वह किसी भी सूरत में आउटर रिंग रोड या दिल्ली के किसी भी अंदरूनी इलाके में ट्रैक्टर रैली नहीं निकालने देगी.





सूत्रों के मुताबिक- पुलिस और किसानों के बीच आपसी सहमति से जो रूट्स तय हुए हैं...

नं0 1 सिंघू बार्डरः- सिंघू बार्डर से ट्रैक्टर परेड चलेगी जो संजय गांधी ट्रांसपोर्ट, कंझावला, बवाना, औचन्दी बार्डर होते हुए हरियाणा में चली जाएगी.

नं0 2 टिकरी बार्डरः- टिकरी बार्डर से ट्रैक्टर परेड नागलोई, नजफगढ़, झड़ौदा, बादली होते हुए केएमपी पर चली जाएगी.

नं0 3 गाजीपुर-यूपी गेटः- गाजीपुर युपी गेट से ट्रैक्टर परेड अप्सरा बार्डर गाजियाबाद होते हुए यूपी के डासना में चली जाएगी.

बाकी शाहंजहांपुर व पलवल से ट्रैक्टर परेड केबारे आज किसान नेता बताएंगे.

पुलिस से जुड़े सूत्रों ने बताया कि अब किसान नेताओं को सहमति देनी होगी कि वे इन्हीं रूट्स तक सीमित रहेंगे. इसके अलावा इस रैली में शामिल सभी किसानों को सारी नियम-शर्तों को मानना होगा. इस दौरान वहां कोई देशविरोध नारा या पोस्टर नहीं दिखना चाहिए.


माना जा रहा है कि दिल्ली पुलिस को दिए गए आवेदन में रैली मार्ग की जानकारी भी है. किसान आउटर रिंग रोड पर रैली निकालने की मांग कर रहे थे. किसानों की तरफ से अनुमति मांगे जाने के बाद दिल्ली पुलिस ने भी अपनी कुछ शर्तें सामने रखी हैं. फिलहाल किसान संगठन पुलिस की मांगों पर चर्चा कर रहे हैं और जल्द ही अपना मत पेश कर सकते हैं. किसानों की तरफ से दिल्ली पुलिस के सामने सिंघु-संजय गांधी अस्पताल और बवाना रूट का प्रस्ताव दिया गया है. वहीं, पुलिस ने यह साफ कर दिया है कि किसान सेंट्रल दिल्ली में परेड नहीं निकाल सकेंगे. साथ ही यह रैली सेना की परेड के बाद ही होगी.

Farmers Protest: फिर हुई किसान की मौत, सिंघु बार्डर पर 75 साल के बुजुर्ग ने तोड़ा दम

इधर किसानों ने भी चेतावनी दे दी है कि दिल्ली पुलिस अनुमति नहीं देगी तब भी रैली निकलेगी. किसान लंबे समय से आउटर रिंग रोड पर ट्रैक्टर मार्च निकालने की योजना बना रहे हैं. वहीं, दिल्ली पुलिस ने इस रूट पर रैली के साफ मना कर दिया है. इसपर किसान संगठनों ने ऐतराज जताया है. पंजाब किसान संघर्ष कमेटी के नेता सतनाम सिंह पन्नू ने कहा है कि दिल्ली पुलिस अनुमति दे या न दे आउटर रिंग रोड पर रैली निकालेंगे. उन्होंने जानकारी दी कि इस रैली का हिस्सा बनने की लिए बड़ी संख्या में किसान दिल्ली पहुंच रहे हैं.

खबरें आ रहीं थीं कि आंदोलन कर रहे किसानों ने पुलिस से अनुमति मिलने के बाद दिल्ली में 100 किलोमीटर की ट्रैक्टर रैली निकालने का फैसला किया है, जबकि, दिल्ली पुलिस ने साफ कर दिया था कि हमें किसानों की तरफ से ट्रैक्टर परेड के मार्ग के संबंध में कुछ भी लिखित में नहीं मिला है. दिल्ली पुलिस ने कहा था 'जब विरोध कर रहे किसान 26 जनवरी को प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली के रास्ते के संबंध में लिखित में देंगे, तो हम इसकी जांच करेंगे और फिर फैसला लेंगे.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज