LoC से आते हैं हथियार और फेक करेंसी! मोदी सरकार ने पाक के साथ व्‍यापार पर लगाई रोक

व्‍यापार मार्ग के जरिए हथियार, मादक पदार्थ और नकली करेंसी भेजे जा रहे हैं.

News18.com
Updated: April 18, 2019, 8:10 PM IST
LoC से आते हैं हथियार और फेक करेंसी! मोदी सरकार ने पाक के साथ व्‍यापार पर लगाई रोक
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर
News18.com
Updated: April 18, 2019, 8:10 PM IST
गृह मंत्रालय ने गुरुवार को जम्‍मू कश्‍मीर में सीमा पार के व्‍यापार को लेकर बड़ा आदेश जारी किया है. मंत्रालय ने सीमा व्‍यापार को 19 अप्रैल से निलंबित कर दिया है. सरकार को एक रिपोर्ट में बताया गया था कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) के रास्ते होने वाले व्यापार मार्गों का कुछ लोग दुरुपयोग कर रहे हैं. व्‍यापार मार्ग के जरिए हथियार, मादक पदार्थ और नकली करेंसी भेजी  जा रही है.

एनआईए सीमा संबंधी कुछ मामलों की जांच कर रहा है. जिसमें सामने आया है कि एलओसी के व्‍यापार मार्ग का दुरुपयोग किया जा रहा है. इसका इस्‍तेमाल आतंकवाद और अलगाववाद के लिए किया जा रहा है. कुछ प्रतिबंधित आतंकी संगठनों के करीबी इसे अंजाम दे रहे हैं.

सरकार ने जम्‍मू कश्‍मीर के सलामाबाद और चक्‍का-दा-बाग में एलओसी व्‍यापार को निलंबित कर दिया है. जोकि गुरुवार रात 12:00 बजे के बाद लागू हो जाएगा. यह व्‍यापार अभी सप्‍ताह में चार दिन तक होता है. यह व्‍यापार बॉर्डर सिस्‍टम और जीरो ड्यूटी पर आधारित है. इसके दो केंद्र हैं. बारामूला उरी का सलामाबाद और पूंछ का चक्कन-दा-बाग शामिल है.

दोनों देशों के बीच सीमा व्‍यापार कई विवादों के बीच वर्ष 2005 और 2006 में शुरू की गई थी. हालांकि आतंकवादी घटनाएं बढ़ने के कारण इसे समय-समय पर निलंबित किया जाता रहा है.

ये भी पढ़ें- सिद्धू की PM मोदी पर विवादित टिप्‍पणी, कहा- आए थे मां गंगा के लाल बनके, जाओगे राफेल...

इससे पहले जब भारत ने पाकिस्‍तान के बालाकोट में एयर स्‍ट्राइक किया था. उस समय भी ऐसी सुगबुगाहट थी कि दोनों देशों के बीच का व्‍यापार बंद हो सकता है. उस वक्‍त ऐसा कुछ नहीं हआ. उस समय अधिकारियों का बयान आया था कि पूंछ जिले के चकन दा बाग से सामान लेकर 34 ट्रक पाकिस्तान के रावलकोट गए, वहीं रावलकोट से सामान लेकर 17 ट्रक चकन द बाग आए.

अधिकारियों ने कहा था, 'इसी तरह, सीमावर्ती नगर उरी के निकट सलामाबाद और मुजफ्फराबाद के निकट चकोटे जाने के लिए दोनों तरफ से 35 ट्रकों ने कमान चौकी पर नियंत्रण रेखा पार की.'
Loading...

ये भी पढ़ें: प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे बीजेपी नेता पर कानपुर के सर्जन की 'सर्जिकल स्ट्राइक, बाल-बाल बचे

बता दें कि जम्‍मू-कश्‍मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले का बदला लेने के लिए भारतीय वायुसेना ने POK में घुसकर जैश के ठिकानों पर हमला किया था. बताया जाता है कि रात करीब साढ़े तीन बजे एक साथ 12 मिराज-2000 लड़ाकू विमानों ने बालाकोट में आतंकियों के बड़े ठिकानों पर हमला किया और उसे पूरी तरह से तबाह कर दिया.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 18, 2019, 7:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...