मां की मुठभेड़ में मौत और पिता पत्थरबाजी के आरोप में गिरफ्तार, अब क्या करे 14 महीने की मरियम!

मरियम की मां पांच महीने पहले एक मुठभेड़ में मर गई थी और अब उसके पिता को पत्थरबाजी करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है.

News18Hindi
Updated: May 17, 2018, 8:20 PM IST
मां की मुठभेड़ में मौत और पिता पत्थरबाजी के आरोप में गिरफ्तार, अब क्या करे 14 महीने की मरियम!
कश्मीर की मरियम
News18Hindi
Updated: May 17, 2018, 8:20 PM IST
14 महीने की मरियम को अब अपने पिता की गैर-मौजूदगी का एहसास होने लगा है. कुपवाड़ा के उन्सू जिले में रह रहे उसके नाना-नानी मोहम्मद सहबान मीर और जरीफा के लिए मरियम को संभालना अब बहुत बड़ा काम बनता जा रहा है. मरियम को सुलाना और खिलाना उनके लिए किसी जंग जीतने से कम नहीं.

दरअसल, मरियम की मां पांच महीने पहले एक मुठभेड़ में मर गई थी और अब उसके पिता को पत्थरबाजी करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है. मरियम के पिता 22 वर्षीय अशफाक वानी सोमवार से पुलिस की गिरफ्त में है. पुलिस का कहना है कि वह पिछले सप्ताह उन्सू के मुख्य चैराहे पर पत्थरबाजी कर रहा था, लेकिन गांव वाले उसे निर्दोष बता रहे हैं.

मरियम के सिर पर हाथ फेरते हुए सहबान मीर ने 'न्यूज 18' को बताया ''अशफाक बगीचे में काम करने के लिए जा रहा था. इसी बीच पुलिस पत्थरबाजी करने वाले भीड़ को भगा रही थी. अगली सुबह पुलिस उसे थाने ले गई और उसके बाद से उसे अब तक रिहा नहीं किया गया.'' उन्होंने आगे कहा, ''वो इन दिनों अपने पिता को याद कर लगातार रो रही है.'
'

मरियम की नानी जरीफा ने बताया कि मरियम की मां के मारे जाने के बाद वह सिर्फ तीन लोगों को ही पहचानती है जो कि वो, उसके नाना और पिता हैं.

 मरियम के रिश्तेदार

अशफाक के रिहाई की मांग कर रहे एक पीडीपी कार्यकर्ता ने कहा, ''अन्याय की भी एक सीमा है. अशफाक को गिरफ्तार कैसे कर सकते हैं. वह एक पत्थरबाज नहीं है. क्या उसका कोई पिछला रिकॉर्ड है?''

इस मामले को लेकर हंदवाड़ा पुलिस के वरिष्ठ अधीक्षक गुलाम जिलानी ने कहा कि वानी के पत्थरबाजी में शामिल होने के पूरे सबूत मिलने के बाद उसे गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने कहा, ''हमारे पास अशफाक के पत्थर फेंकने का वीडियो है. उसने अपने अपराध को स्वीकार भी कर लिया है.''

हालांकि, वहां के स्थानीय निवासी उसके बच्ची और बूढ़े मां-बाप की दुहाई देते हुए लगातार अशफाक के रिहाई की गुहार लगा रहे हैं.

मरियम की मां मैसारा (22) 11 दिसंबर, 2017 को एक मुठभेड़ में मार दी गई थी. जिसमें तीन आतंकी भी मारे गए थे. यह घटना उसके घर के कुछ दूर पर ही हुई थी.

ये भी पढ़ें: सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस :  एक और गवाह अपने बयान से पलटा,अब तक 59 गवाह मुकरे 

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर