Assembly Banner 2021

motor vehicle act- ई रिक्‍शा चालकों को 10 दिन की ट्रेनिंग होगी अनिवार्य, जानें क्‍यों जरूरत पड़ी ट्रेनिंग की?

शहरों में जाम का कारण बन रहे ई रिक्‍शा चालकों को दी जाएगी ट्रेनिंग. सांकेतिक फोटो

शहरों में जाम का कारण बन रहे ई रिक्‍शा चालकों को दी जाएगी ट्रेनिंग. सांकेतिक फोटो

हुए सड़क परिवहन मंत्रालय ने शहरों में जाम का कारण बन रहे ई रिक्‍शा चालकों के लिए 10 दिन की ट्रेनिंग अनिवार्य कर दी है

  • Share this:
नई दिल्‍ली. ई रिक्‍शा चालकों द्वारा सड़कों पर बेतरीब और मनचाहे रूट पर चलने की वजह से सड़क परिवहन मंत्रालय ने ई रिक्‍शा चालकों के लिए 10 दिन की ट्रेनिंग अनिवार्य कर दी है. यह ट्रेनिंग चालकों को यातायात नियमों की जानकारी देने के लिए शुरू की जा रही है. ट्रेनिंग के बाद चालकों को एक सर्टिफिकेट मिलेगा, जो सभी चालकों को रखना होगा. ई रिक्‍शा चालकों ट्रेनिंग दिलाने की जिम्‍मेदारी राज्‍य सरकारों की होगी.

देशभर में छोटे शहरों से लेकर महानगरों तक लाखों की संख्‍या में ई रिक्‍शा चल रहे हैं. ई रिक्‍शा के लिए कोई  परिमट की जरूरत नहीं होती है इसलिए ये किसी भी रूट पर चलाए जा रहे हैं. ई रिक्‍शा चालक सवारियों के आधार पर ई रिक्‍शा  का रूट तय  करते हैं. यानी जिस रूट पर सवारी मिलती हैं, उसी रूट पर ई रिक्‍शा चला देते हैं. इस वजह से शहरों की ट्रैफिक व्‍यवस्‍था प्रभावित होती है. कई शहरों में जाम की वजह ई रिक्‍शा बनते जा रहे हैं. इसी को ध्‍यान में रखते हुए सड़क परिवहन मंत्रालय ने यह फैसला लिया है.

सड़क परिवहन मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार ई रिक्‍शा चालकों को ट्रेनिंग देना राज्‍य सरकार की जिम्‍मेदारी होगी. ये ट्रेनिंग देने का तरीका क्‍या होगा और ट्रेनिंग कहां देनी है, यह सब राज्‍य सरकार तय करेगी. इस ट्रेनिंग के माध्‍यम से ई रिक्‍शा चालकों को यह बताया जाएगा कि ई रिक्‍शा चलाते समय क्‍या सावधानी बरतनी चाहिए. शहर में किन रास्‍तों से चलना चाहिए और किन रास्‍तों पर जाने से बचना है, जिससे शहर में जाम न लग सके. इस तरह की ट्रेनिंग लेने के बाद ही चालक ई रिक्‍शा को सड़क पर चला सकेगा. इसके लिए चालकों को सर्टिफिकेट दिया जाएगा, जिसे साथ में रखना अनिवार्य होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज