लाइव टीवी

पहली बार सेना पुलिस में शामिल होंगी महिलाएं, 100 महिलाओं को दी जा रही ट्रेनिंग: सेना प्रमुख

भाषा
Updated: January 12, 2020, 5:55 AM IST
पहली बार सेना पुलिस में शामिल होंगी महिलाएं, 100 महिलाओं को दी जा रही ट्रेनिंग: सेना प्रमुख
सेना पुलिस में शामिल की जाने वाली 100 महिलाओं के पहले समूह का प्रशिक्षण छह जनवरी से शुरू हो चुका है (सांकेतिक तस्वीर, Reuters)

सेना ने ऐतिहासिक पहल (Historical Initiative) करते हुए पिछले साल महिलाओं को सेना पुलिस में शामिल करने की प्रक्रिया शुरू की थी. इससे लगभग दो साल पहले तत्कालीन सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने कहा था कि महिलाओं को सेना में जवानों के तौर पर भर्ती किया जाएगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. सेना प्रमुख मनोज नरवणे (Manoj Mukund Naravane) ने शनिवार को कहा कि सेना पुलिस (Army Police) में शामिल करने के लिए 100 महिलाओं के पहले समूह का प्रशिक्षण (Training) छह जनवरी से शुरू हो गया है.

सेना ने ऐतिहासिक पहल (Historical Initiative) करते हुए पिछले साल महिलाओं को सेना पुलिस में शामिल करने की प्रक्रिया शुरू की थी. इससे लगभग दो साल पहले तत्कालीन सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने कहा था कि महिलाओं को सेना में जवानों के तौर पर भर्ती किया जाएगा.

कॉम्बैट रोल में कबसे दिखेंगी महिलाएं का सीधा जवाब नहीं दिया
सेना दिवस से पहले यहां आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में जनरल नरवणे से पूछा गया कि महिलाओं को 'कॉम्बैट रोल' (युद्धक भूमिका- Combat Role) कब दिया जाएगा, तो उन्होंने इसका सीधा जवाब न देते हुए कहा कि सेना पुलिस में शामिल की जाने वाली 100 महिलाओं के पहले समूह का प्रशिक्षण छह जनवरी से शुरू हो चुका है.

'इंटेलिजेंस और सेना की तत्परता से हम पाक में पनप रहे आतंकियों को पीछे ढकेलने में सफल'
इससे पहले सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे ने कहा है कि पीओके भारत का हिस्सा बन सकता है. हालांकि उन्होंने यह भी साफ कर दिया कि इस मसले पर फैसला सरकार को ही लेना है. पाकिस्तान और चीन की चुनौतियों के सवाल पर बोलते हुए आर्मी चीफ (Army Chief) ने कहा, हमारी सेना किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार है. एलओसी पर घुसपैठ की कोशिशों के बारे में बोलते हुए आर्मी चीफ ने कहा, इंटेलिजेंस इनपुट और सेना की तत्परता के जरिए हम पाकिस्तान (Pakistan) में पनप रहे आतंकियों को पीछे ढकेलने में कामयाब हो रहे हैं.

सेना सुनिश्चित करेगी तीनों सैन्य बलों के एकीकरण की सफलताथल सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने सीडीएस (CDS) को तीनों सैन्य बलों के एकीकरण की दिशा में बहुत बड़ा कदम बताया और कहा कि सेना इसकी सफलता सुनिश्चित करेगी. उन्होंने जोर देकर कहा कि संविधान (Constitution) के प्रति निष्ठा हर वक्त हमारा मार्गदर्शन करेगा. उन्होंने कहा, संविधान में निहित न्याय (Justice), स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व की भावना हमारा मार्गदर्शन करती रहेगी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 12, 2020, 5:40 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर