ट्रांसजेंडर बिल के विरोध में उतरे किन्नर, कहा- भगवान राम का दिया हक न छीने सरकार

शीतकालीन सत्र लोकसभा में ट्रांसजेंडर व्यक्तियों के अधिकारों से जुड़ा एक अहम बिल पारित किया गया था. ये बिल ट्रांसजेंडर्स के अधिकारों को संरक्षित करता है जिस पर सदन ने ध्वनिमत से मुहर लगा दी

News18Hindi
Updated: January 20, 2019, 7:33 PM IST
ट्रांसजेंडर बिल के विरोध में उतरे किन्नर, कहा- भगवान राम का दिया हक न छीने सरकार
ट्रांसजेंडर समुदाय बिल का विरोध करते हुए
News18Hindi
Updated: January 20, 2019, 7:33 PM IST
द ट्रांसजेंडर पर्सन्स (प्रोटेक्शन ऑफ राइट्स) बिल 2018 के विरोध में रविवार को जंतर मंतर पर ट्रांसजेंडर समुदाय ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया. ट्रांसजेंडर समुदाय के लोगों ने प्रधानमंत्री मोदी से इस बिल को वापस लेने की मांग की है. ट्रांसजेंडर समुदाय के लोगों का कहना है कि ये बिल उनकी जिंदगी मुश्किल कर देगा क्योंकि इसके प्रावधान उनके खिलाफ हैं.

शीतकालीन सत्र लोकसभा में ट्रांसजेंडर व्यक्तियों के अधिकारों से जुड़ा एक अहम बिल पारित किया गया था. ये बिल ट्रांसजेंडर्स के अधिकारों को संरक्षित करता है जिस पर सदन ने ध्वनिमत से मुहर लगा दी. इस बिल में ट्रांसजेंडर व्यक्ति को परिभाषित करने, उनके खिलाफ भेदभाव पर पाबंदी लगाने और उन्हें लिंग पहचान का अधिकार देने के प्रावधान शामिल हैं.

किन्नर समाज के उत्तम बाबा का कहना है, ''सरकार से हमारी तीन प्रमुख मांगे हैं बिल में संशोधन किया जाए जो मौजूदा बिल में रखा गया है. सदियों से चले आ रहे गुरु शिष्य परंपरा को कायम रखा जाए ,दूसरा लिंग के अनुसार कोई किन्नर समाज में होता है तो उसका अधिकार रखा जाए और तीसरा हमलोगों की भिखारी की श्रेणी में रखा गया है जो बिलकुल गलत है इसे भी बिल से हटाया जाए.'



2011 की जनगणना के अनुसार, ऐसे लोग जिनकी पहचान 'पुरुष' या 'महिला' के तौर पर नहीं, बल्कि 'अन्य' के तौर पर हुई, उनकी संख्या 4,87,803 थी, जोकि कुल आबादी का 0.04 प्रतिशत था.

किन्नरों का कहना है कि समाज में उन्हें एक अलग निगाह से देखा जाता है सरकार को बिल में संशोधन करना चाहिए उनके नहीं तो आगामी बज़ट सत्र के दौरान पूरे देश में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा.

ये भी पढ़ें:

VIDEO: बीजेपी नेता की फैक्ट्री में भीषण आग, 4 मजदूरों की मौत
Loading...

पीएम मोदी से मिले कपिल शर्मा, कहा 'तुस्सी बड़े मजाकिया हो'

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...