पंजाब जाने वाले यात्रियों को सीमाओं पर असुविधा से बचने को मोबाइल से करना होगा ई-रजिस्टर

पंजाब जाने वाले यात्रियों को सीमाओं पर असुविधा से बचने को मोबाइल से करना होगा ई-रजिस्टर
पंजाब में COVID-19 लॉकडाउन के दौरान सुनसान पड़ा एक फ्लाईओवर

इस कदम का उद्देश्य अंतर-राज्य सीमा चौकियों (inter-state border checkpoints) पर भीड़ और लंबी कतारों के कारण यात्रियों (travellers) को होने वाली असुविधा (inconvenience) से बचाना है.

  • Share this:
चंडीगढ़. अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (CM Amarinder Singh) ने घरेलू यात्रियों (domestic travellers) के लिए 14-दिन के होम क्वारंटाइन (Quarantine) में छूट देने से इनकार कर दिया है. वहीं सोमवार मध्य रात्रि से राज्य में यात्रा करने के इच्छुक सभी लोगों के लिए ई-पंजीकरण (e-register) की प्रक्रिया अनिवार्य कर दी गई है. पंजाब (Punjab) की यात्रा करने वाले संभावित यात्रियों या उत्तर भारत के इस राज्य में बिना किसी परेशानी के यात्रा करने से पहले यात्री COVA ऐप के माध्यम से या एक वेबलिंक- https://cova.punjab.gov.in/registration के माध्यम से स्वयं पंजीकरण कर सकते हैं.

इस कदम का उद्देश्य अंतर-राज्य सीमा चौकियों (inter-state border checkpoints) पर भीड़ और लंबी कतारों के कारण यात्रियों (travellers) को होने वाली असुविधा से बचाना है. राज्य में प्रवेश करने वाले और इसे पार करके दूसरे स्थानों पर नहीं जाने वाले यात्रियों को अगर उनमें कोई लक्षण नहीं (asymptomatic) है तो उन्हें चौकियों को पार करने के बाद 14 दिनों के लिए अपने घरों में सेल्फ क्वारंटाइन (Self Quarantine) में रहना होगा.

क्वारंटाइन में रखे गये यात्रियों को अपने स्वास्थ्य की नियमित जानकारी देनी होगी
क्वारंटाइन के दौरान, उन्हें 112 पर कॉल करके या Cova ऐप के माध्यम से दैनिक रूप से अपनी चिकित्सा स्थिति की रिपोर्ट देने की जरूरत होगी.
एक सरकारी प्रवक्ता ने कहा कि जिन यात्रियों में लक्षण देखे जायेंगे, उन्हें चेकप्वॉइंट पर ही उचित निर्देश दिए जाएंगे.



संबंधित स्थानीय पुलिस स्टेशन भौतिक और तकनीकी तौर पर करेगा निगरानी
प्रवक्ता ने कहा कि पंजाब में आने वाले आगंतुकों या निवासियों के बारे में सभी जरूरी विवरण स्वास्थ्य अधिकारियों और पुलिस स्टेशनों के साथ एक रियल टाइम अलर्ट सिस्टम के माध्यम से साझा किए जाएंगे.

आने वाले यात्रियों की उनके दिए पते के अनुसार संबंधित पुलिस स्टेशन भौतिक और तकनीकी माध्यमों (जियो-फेंसिंग आदि) के माध्यम से नियमित निगरानी करेंगे, जो उनकी सुरक्षा और पंजाब के लोगों के स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading