Assembly Banner 2021

सौंदर्य बढ़ाने के तरीके, जो एक बुरे सपने में बदल गए

बिनीता नाथ की ट्रीटमेंट से पहले और बाद की तस्वीर

बिनीता नाथ की ट्रीटमेंट से पहले और बाद की तस्वीर

सिल्चर की रहने वाली डॉक्टर बिनीता नाथ एक शादी में शामिल होने से पहले पास के एक ब्यूटी पार्लर गयीं और चेहरे पर डी-टैन ( धूप से सांवली त्वचा को निखारना ) और ब्लीच करवाया. क्रीम लगाने के कुछ ही समय बाद वह दर्द से कराह उठीं.

  • Share this:
नई दिल्ली. आमतौर हर महिला को ब्यूटी पार्लर जाना पसंद होता है. ये ऐसी जगह है जहां जाकर वह अपनी खूबसूरती में इजाफा कर सकती हैं और अपने आप पर ध्यान देते हुए अच्छा वक्त बिता सकती हैं. लेकिन अगर यही ब्यूटी पार्लर एक बुरे सपने में तब्दील हो जाए तब? ब्यूटी पार्लर्स में दुर्घटनाओं के कुछ ऐसे मामले सामने आये हैं जिनके बारे में जानकर आप अगली बार ब्यूटी पार्लर जाते समय दो बार सोचेंगीं.

हाल में ही ऐसी ही दुर्घटना सिल्चर की रहने वाली डॉक्टर बिनीता नाथ के साथ हुई. बिनीता एक शादी में शामिल होने से पहले पास के एक ब्यूटी पार्लर गयीं और चेहरे पर डी-टैन ( धूप से सांवली त्वचा को निखारना ) और ब्लीच करवाया. क्रीम लगाने के कुछ ही समय बाद वह दर्द से कराह उठीं. बिनीता ने अपने बुरे एक्सपीरियंस को शेयर करते हुए बताया, ऐसा लगा जैसे किसी ने उसके चेहरे पर गर्म तेल डाला हो. वहां मौजूद स्टाफ ने तुरंत उनके चेहरे पर बर्फ लगाई मगर देर हो चुकी थी, उनके चेहरे की त्वचा की एक परत पहले से निकल चुकी थी.

उन्होंने इस दुर्घटना की पूरी कहानी फेसबुक लाइव पर बतायी. उन्होंने आगे इस बात का जिक्र भी किया कि वह अक्सर ब्यूटी पार्लर नहीं जाती हैं. ब्यूटी पार्लर स्टाफ ने कहा कि अगर वह थ्रेडिंग नहीं करवाना चाहती हैं तब चेहरे पर मौजूद बालों के लिए ब्लीच और डी-टैन ट्रीटमेंट ले सकती हैं जिसके लिए वह राजी हो गयीं और तब यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई.



हालांकि, सारदा ब्यूटी पार्लर जहां बिनीता के साथ ये घटना घटी वहां के मालिक ने दावा किया है कि उनके स्टाफ ने ब्लीच के बाद डी-टैन करवाने के लिए मना किया था मगर डॉक्टर बिनीता ने डी-टैन फेशिअल करवाने पर जोर डाला और इस तरह यह घटना हुई. कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप अपनी त्वचा पर क्या उपयोग करते हैं, चाहे वह त्वचा की देखभाल करने वाला उत्पाद हो, मेकअप हो या किसी भी तरह का केमिकल हो, हमेशा यह जांचने के लिए आपके हाथों पर पैच टेस्ट करने की सलाह दी जाती है कि उत्पाद आपकी त्वचा पर बुरी प्रतिक्रिया कर रहा है या नहीं.
ब्यूटीशियन की गलती के चलते घूंघट डालकर ड्यूटी करने को मजबूर डेंटिस्ट
इसी तरह की एक और घटना में, गोलाघाट की रहने वाली एक डेंटिस्ट भी ब्यूटी पार्लर की लापरवाही की शिकार हुई. डॉ लीज़ा देवी ने अपने भयावह अनुभव के बारे में बताया कि वह अपनी बहन की शादी के लिए अपना फेशिअल कराने के लिए काया यूनिसेक्स पार्लर गई थीं, जहां फेशिअल की प्रक्रिया के दौरान, ब्यूटीशियन ने पानी के स्टीमर से उसके चेहरे पर उबलता हुआ पानी डाला, जिससे उसका चेहरा जल गया. उनका आरोप है कि ब्यूटिशियन अनुभवी नहीं थी और स्टीमर की क्वालिटी घटिया किस्म की थी. डॉक्टरों का कहना है कि इसे ठीक होने में छह महीने का वक्त लगेगा. गोलाघाट चरंगिआ गवर्नमेंट हॉस्पिटल में काम करने वाली डॉ. लीज़ा ने चेहरे पर घूंघट डालकर अपनी ड्यूटी करने का निश्चय किया.

टीवी अभिनेत्री के साथ भी घटी ऐसी ही घटना
ऐसी ही एक अन्य घटना में, मेघना उर्फ़ निर्मला जो एक टीवी अभिनेत्री हैं, ने हैदराबाद की श्रीनगर कॉलोनी के लविनो कास्मेटिक एंड लेज़र क्लिनिक में चेहरे की झुर्रियों का इलाज कराने और बालों में रंग करवाने के लिए गयीं. 45 दिनों के ट्रीटमेंट और अच्छे परिणामों के लिए क्लिनिक ने उनसे 62000 रूपए लिए. फिर भी त्वचा का रंग गहराने लगा और इसका प्राकृतिक रंग ख़त्म हो गया. मेघना को यह दुष्परिणाम समझ में आया और उन्होंने ब्यूटी क्लिनिक को ट्रीटमेंट के लिए दिए गए पैसे लौटाने की विनती करते हुए कानूनी नोटिस भेजा. जब उन्होंने इस पर सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं दी, तब वह जिला उपभोक्ता कोर्ट फोरम में गयीं जिसने क्लिनिक को उनके 62000 रूपए के साथ मानसिक तनाव की क्षतिपूर्ति हेतु 50000 रूपए और 5000 रूपए खर्चों के लिए देने का आदेश दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज