TMC सांसद ने सुनाई 46 साल पुरानी आपबीती, 28 पार्टियों ने एक सुर में इस कानून पर लगा दी मुहर

TMC सांसद ने सुनाई 46 साल पुरानी आपबीती, 28 पार्टियों ने एक सुर में इस कानून पर लगा दी मुहर
तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ ब्रायन संसद बताई ये बात. (फाइल फोटो)

अक्सर संसद में राजनीतिक दलों को एक-दूसरे से असहमत होते हुए बहस करते देखा जाता है, लेकिन जब बात देश के बच्चों की हो, तो उम्मीद की जाती है कि पूरा सदन एकजुट हो. ऐसा ही नजारा आज राज्यसभा में देखा गया.

  • Share this:
यौन अपराध की बात करते ही अक्सर ये सोच लिया जाता है कि ये महिलाओं या बच्चियों के साथ होने वाले अपराध के बारे में बात की जा रही है, लेकिन देश की संसद में आज हुई बहस से ये साफ है कि यौन अपराधियों के निशाने पर ना सिर्फ लड़कियां हैं बल्कि लड़के भी हैं. तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने अपने साथ घटे यौन अपराध की ना सिर्फ जानकारी दी बल्कि ये भी बताया कि घटना के कई साल बाद उन्होंने अपने परिजनों को इस अपराध की जानकारी दी. खुद देश की महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि एक सांसद के साथ 13 साल की उम्र में जो घटना घटी, वो आज 46 साल बाद उन्होंने सदन के सामने बताई. ये बात साबित करती है कि यौन अपराध बच्चों के मन-मस्तिष्क पर कितना गहरा असर छोड़ता है.

28 दलों ने एक सुर में रखी बात
अक्सर संसद में राजनीतिक दलों को एक-दूसरे से असहमत होते हुए बहस करते देखा जाता है, लेकिन जब बात देश के बच्चों की हो, तो उम्मीद की जाती है कि पूरा सदन एकजुट हो. ऐसा ही नजारा आज राज्यसभा में देखा गया, जब पूरे सदन में करीब 28 राजनीतिक दलों के नुमाइंदों ने अपनी बात रखी और एक सुर में बच्चों के साथ होने वाले अपराधों से निपटने के लिए बने कानून में संशोधन को मंजूरी दी. इस संशोधन के जरिए अब बच्चों के साथ यौन अपराध करने वाले अपराधियों को फांसी की सजा तक का प्रावधान किया गया है.

डेरेक ओ ब्रायन की बात से चौंका पूरा सदन
पूरा सदन उस समय चौंक गया, जब तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने बताया कि जब वो 13 साल के थे, तो बस में एक व्यक्ति ने उनका यौनाचार किया. उन्होंने ये बात किसी को नहीं बताई और आज वो संसद को बता रहे हैं. यही नहीं, ये बात उनके परिवार वालों को बहुत समय बाद पता चली और आज देश को भी पता चलनी चाहिए. यौन अपराध के बारे में देश के कानून निर्माताओं को खुलकर बात करनी चाहिए, ताकि आम जनता भी इस तरह के अपराध के खिलाफ आवाज उठा सके.



जया बच्‍चन ने कही ये बात
फिल्म अभिनेत्री और सांसद जया बच्चन ने कहा कि पहले सिर्फ लड़कियों के लिए डर लगता था, लेकिन अब लड़कों के लिए भी डर लगता है. जाहिर है कि सांसदों की चिंता इस बात को लेकर ज्यादा थी कि लड़कियों के साथ साथ लड़कों को भी उनके साथ होने वाले यौन अपराधों के बारे में जागरूक करने की जरूरत है.यानि ये अपराध सिर्फ महिलाओं और बच्चियों तक ही सीमित नहीं है बल्कि बच्चे, लड़के भी इसकी जद में हैं.

फिल्म अभिनेत्री और सांसद जया बच्चन ने कहा कि पहले सिर्फ लड़कियों के लिए डर लगता था, लेकिन अब लड़कों के लिए भी डर लगता है.


दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा ये बोलीं
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल के मुताबिक, समाज बच्चियों को तो इस तरह के अपराधों के प्रति जागरूक करने में जुटा है, लेकिन आज जरूरत अपने लड़के-लड़कियों दोनों को ही इस तरह के अपराधियों के प्रति जागरूक करने की जरूरत है. उन्होंने बताया कि बच्चियों के साथ होने वाले अपराध के मामले मे अब लोग सामने आने लगे हैं, लेकिन लड़कों के साथ होने वाले अपराधों के मामले में अब भी लोग शर्म या झिझक के कारण आगे नहीं आते. जबकि इस तरह के अपराध के खिलाफ जोरदार तरीके से आवाज उठानी होगी. ये तभी होगा, जब हम अपने बच्चों को गुड टच-बैड टच के बारे में समझाएं. साथ ही उन्हें ये भी बताने की जरूरत है कि किसी भी तरह के यौन अपराध के बारे में शिकायत जरूर करनी चाहिए. अगर शिकायत नहीं की, तो अपराधी उन्हें दोबारा अपना निशाना बना सकते हैं.

ये भी पढ़ें-

बालाकोट: पाकिस्‍तान को भारत के बदले का था अंदेशा, पहले से कर रखी थी तैयारी!

ट्रंप के दावे की खुलेगी पोल! कश्मीर पर मध्यस्थता के बयान के बाद फ्रांस में PM मोदी से होगा सामना
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading