तृणमूल कांग्रेस NRC पर फैला रही झूठ, गोरखा समुदाय पर असर नहीं पड़ेगा: अमित शाह

अमित शाह ने कहा, ‘‘एनआरसी अभी लागू नहीं हुआ है, लेकिन जब भी ऐसा होगा, एक भी गोरखा को जाने के लिए नहीं कहा जाएगा.’’ (BJP4India Twitter/11 April 2021)

अमित शाह ने कहा, ‘‘एनआरसी अभी लागू नहीं हुआ है, लेकिन जब भी ऐसा होगा, एक भी गोरखा को जाने के लिए नहीं कहा जाएगा.’’ (BJP4India Twitter/11 April 2021)

West Bengal Assembly Elections 2021: भाजपा के वरिष्ठ नेता अमित शाह ने कहा, ‘‘एनआरसी अभी लागू नहीं हुआ है लेकिन जब भी ऐसा होगा, एक भी गोरखा को जाने के लिए नहीं कहा जाएगा.’’

  • Share this:
कलिम्पोंग/धूपगुड़ी (पश्चिम बंगाल). केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NCR) को लेकर पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) पर पहाड़ के लोगों के बीच झूठ फैलाकर डर पैदा करने का आरोप लगाया और कहा कि गोरखा समुदाय पर इसका असर नहीं पड़ेगा. कलिम्पोंग में एक रोड शो के बाद शाह ने कहा कि जब तक केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार है, गोरखा लोगों को कोई परेशानी नहीं होगी.

भाजपा के वरिष्ठ नेता शाह ने कहा, ‘‘एनआरसी अभी लागू नहीं हुआ है, लेकिन जब भी ऐसा होगा, एक भी गोरखा को जाने के लिए नहीं कहा जाएगा.’’ केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, ‘‘तृणमूल कांग्रेस गोरखा लोगों के बीच डर पैदा करने के लिए एनआरसी पर झूठ फैला रही है.’’ शाह ने दावा किया कि दार्जिलिंग और कलिम्पोंग को लंबे समय से अत्याचार झेलना पड़ रहा है और 1986 में 1200 से ज्यादा गोरखा लोगों की जान गयी लेकिन उन्हें न्याय नहीं मिला.

Youtube Video


ये भी पढ़ें- स्पुतनिक V, कोविशील्ड और कोवैक्सीन से कैसे अलग यहां जानें सबकुछ
गृह मंत्री ने ममता सरकार पर लगाया आरोप

गृह मंत्री ने आरोप लगाया कि हालिया समय में कई गोरखा लोगों की मौत के लिए ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली सरकार भी जिम्मेदार है. ‘जय श्री राम’ और ‘जय गोरखा’ के नारों के बीच शाह ने कहा, ‘‘हम एक एसआईटी गठित करेंगे और गलत करने वाले जिम्मेदार लोगों को जेल भेजेंगे.’’

दार्जिलिंग और इसके आसपास के इलाके में अलग गोरखालैंड की मांग को लेकर 1986 और 2017 में कई आंदोलन हुए.



शाह ने लोगों से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को शानदार विदाई देने के लिए कहते हुए भाजपा को 200 से ज्यादा सीटों पर जीत दिलाने की अपील की.

ये भी पढ़ें- Kumbh 2021:कुंभ के दूसरे शाही स्नान में नहीं दिखा कोरोना का डर, देखिए तस्वीरें

अपना इस्तीफा तैयार रखने की बात कहते हुए गृह मंत्री ने रैली में लोगों से पूछा कि क्या वे चाहते हैं कि चौथे चरण के मतदान के दौरान सीआईएसएफ की गोलीबारी में चार लोगों की मौत के मद्देनजर वह त्यागपत्र दे दें. शाह ने कहा, ‘‘अगर लोग चाहेंगे तो मैं इस्तीफा दे दूंगा. ’’



धूपगुड़ी में पांचवें चरण में शनिवार को मतदान होगा.

(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज