राज्यसभा में आज पेश होगा ट्रिपल तलाक बिल

लोकसभा में इस बिल के पक्ष में 303 और विपक्ष में 82 वोट पड़े. कांग्रेस, डीएमके, एनसीपी, टीडीपी और जेडीयू ने इस बिल का विरोध किया था.

News18Hindi
Updated: July 30, 2019, 6:43 AM IST
राज्यसभा में आज पेश होगा ट्रिपल तलाक बिल
लोकसभा में इस बिल के पक्ष में 303 और विपक्ष में 82 वोट पड़े. कांग्रेस, डीएमके, एनसीपी, टीडीपी और जेडीयू ने इस बिल का विरोध किया था.
News18Hindi
Updated: July 30, 2019, 6:43 AM IST
राज्यसभा में मंगलवार को ट्रिपल तलाक बिल पेश किया जाएगा. राज्यसभा में सदन के पटल पर कल तीन तलाक बिल चर्चा और पारित कराने के लिए रखा जाएगा. बीजेपी ने इसके लिए तीन लाइन का व्हिप जारी किया है और अपने सभी सांसदों को सदन में मौजूद रहने और बिल का समर्थन करने के निर्देश दिया है.

लोकसभा पहले ही इस बिल को पारित कर चुकी है. इसके पहले लोकसभा के मानसून सत्र में गुरुवार को ट्रिपल तलाक बिल पेश किया गया था. बिल पर दिन भर बहस चली और शाम को यह बिल लोकसभा में पास हो गया. इस बिल के पक्ष में 303 और विपक्ष में 82 वोट पड़े. कांग्रेस, डीएमके, एनसीपी, टीडीपी और जेडीयू ने इस बिल का विरोध किया था.

यह बिल पिछली लोकसभा में ही पास हो गया था, लेकिन राज्‍यसभा ने इस बिल को वापस कर दिया था. 16वीं लोकसभा का कार्यकाल खत्‍म होने के बाद मोदी सरकार कुछ बदलावों के साथ इस बिल को दोबारा लेकर आई. इसके साथ ही संसदीय कार्य मंत्री ने सत्र को 7 अगस्‍त तक बढ़ाने की मांग की थी. जिसके बाद लोकसभा स्‍पीकर की अनुमति से इसे 7 अगस्‍त तक बढ़ा दिया गया है.

इसके पीछे सरकार का तर्क था कि 17 विधेयक लंबित हैं और भारी संख्‍या में सरकारी कामकाज बाकी है. ऐसे में संसद सत्र की अवधि बढ़ाए जाने की जरुरत है.

इस तरह राज्यसभा में पारित हो सकता है ट्रिपल तलाक बिल
लोकसभा में अपने बहुमत के दम पर आसानी से पारित करा चुकी ट्रिपल तलाक बिल पर एनडीए और बाकी विपक्ष की असली परीक्षा राज्यसभा में होगी. राज्यसभा में न तो एनडीए और न ही यूपीए बहुमत में है, ऐसे में गैर एनडीए और गैरयूपीए पर बिल के पारित होने की निर्भरता काफी बढ़ जाती है.


Loading...

एनडीए के लिये चुनौती इसलिये भी बढ़ गई है कि जेडीयू ने बिल को समर्थन न देने का फैसला किया है और आल इण्डिया अन्नाद्रमुक ने भी बिल पर सवाल खड़ा किया है.

क्या कहते हैं आंकड़े
राज्यसभा में आंकड़ों की बात करें तो यूं तो सदन की कुल सदस्य संख्या 245 है लेकिन फिलहाल 4 रिक्तियों की वजह से वास्तविक सदस्य संख्या सदन की 241 है. इसमें एनडीए की संख्या 113 है जिसमें नामांकित सांसद शामिल हैं जबकि कांग्रेस समेत बाकी यूपीए के घटक दलों की संख्या 68 हैं.

इसके अलावा दूसरी विपक्षी पार्टियों के पास राज्यसभा में 42 सांसद हैं. इनमें से बाकी 18 न तो बीजेपी के साथ हैं न ही बीजेपी के खिलाफ हैं. भले ही एनडीए के पास राज्यसभा में बहुमत न हो लेकिन एनडीए का पलड़ा भारी है. इस बात की पूरी उम्मीद है की सरकार राज्यसभा में ट्रिपल तलाक बिल को पारित करा लेगी.

ये भी पढ़ें-
लोकसभा से नेशनल मंडिकल कमीशन बिल पास, होंगे ये फायदे

कर्मचारी की मंजूरी के बिना ओवरटाइम नहीं करा पाएंगी कंपनियां, मोदी सरकार ला रही नया नियम
First published: July 30, 2019, 6:42 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...