ट्रिपल तलाक बिल को एक साल पूरे, नकवी बोले- लैंगिक समानता का मिला अधिकार

ट्रिपल तलाक बिल को एक साल पूरे, नकवी बोले- लैंगिक समानता का मिला अधिकार
ट्रिपल तलाक बिल के एक साल पूरे होने पर नकवी ने रखी अपनी बात.

बता दें कि 23 जुलाई 2019 को संसद ने ट्रिपल तलाक कानून (Triple Talaq Bill) को पारित किया गया था, जिसे 1 अगस्त को राष्ट्रपति ने मुहर लगाई थी. देश में बहुत सी महिला संगठन आज के दिन को महिला अधिकार दिवस के तौर पर मना रही हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 27, 2020, 11:40 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ट्रिपल तलाक बिल  (Triple Talaq Bill) को अस्तित्व में आज एक साल पूरे हो गए हैं. ट्रिपल तलाक बिल पर बात करते हुए केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) ने कहा है कि ट्रिपल तलाक एक कुरीति थी. पिछले एक साल में ट्रिपल तलाक कानून से सकारात्मक और रचनात्मक नतीजे सामने आए हैं और बहुत अच्छा सुधार हुआ है. मुस्लिम महिलाओं (Muslim women) पर तलाक के बिददत की तलवार से राहत मिली है और लैंगिक समानता का अधिकार मिला है.

बता दें कि 23 जुलाई 2019 को संसद ने ट्रिपल तलाक कानून को पारित किया गया था, जिसे 1 अगस्त को राष्ट्रपति ने मुहर लगाई थी. देश में बहुत सी महिला संगठन आज के दिन को महिला अधिकार दिवस के तौर पर मना रही हैं. मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि ट्रिपल तलाक को लेकर सबसे बड़ी भूमिका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की थी. वह देश को सुधार के रास्ते पर ले जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें :- तेलंगाना में पत्नी को तीन बार तलाक कहकर तलाक देने के आरोप में व्यक्ति गिरफ्तार



उन्होंने कहा इसी तरह 370 जम्मू-कश्मीर के अंदर तमाम समस्याओं की जड़ थी. 370 हटने से तमाम समस्याओं के समाधान का रास्ता साफ हुआ है. पहले देश के लिए जो कानून बनते थे, वह जम्मू कश्मीर में लागू नहीं होते थे. अब जम्मू-कश्मीर में विकास कार्य तेज हुआ है और लोगों को रोजगार मिल रहा है. जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद से चहुंमुखी विकास का रास्ता साफ हुआ है. कुछ लोगों को सिर्फ अलगाववाद और लोगों की गरीबी और पिछड़ेपन से प्यार है तो यह उनकी दिक्कत है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading