सीएम बिप्लब देव की मेहनत से अगरतला को मिल रही है नई पहचान

बिप्लब देब (फाइल फोटो)
बिप्लब देब (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री ने बिप्लब कुमार देव त्रिपुरा की पुरातन काल की धरोहरों को फिर से पुनर्जीवित करने का निर्णय लिया है.

  • Share this:
त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देव इन दिनों राजधानी अगरतला को नया लुक देने के प्रोजेक्ट पर कम कर रहे हैं. सीएम की पहल से अगरतला नगर निगम ने दीवारों पर पेंटिंग बनवाने का अभियान चला रखा है. निजी और सरकारी सभी दीवारों पर रंग-बिरंगी पेंटिंग्स करवाई जा रही हैं. बता दें कि पश्चिम बंगाल की तरह त्रिपुरा को भी सांस्कृतिक धरोहरों में धनी माना जाता है.

युवा मुख्यमंत्री ने पुरातन काल की धरोहरों को फिर से पुनर्जीवित करने का निर्णय लिया है. इसी प्रयास के तहत अगरतला के सभी दीवारों पर इन पेंटिंग्स के कार्य जारी है. राज्य के शहरी विकास के तहत आने वाले अगरतला नगर निगम ने प्रदेश के पेंटिंग कलाकारों को एकत्रित कर ये अभियान शुरू किया है. इससे पेंटिंग कलाकारों को पहचान के साथ रोजगार भी मिल रहा है साथ ही शहर की स्वच्छता भी सुनिश्चित हो रही है.





देब का कहना है कि शहर के दीवारों पर होने वाली पेंटिंग्स राज्य के पर्यटन को नया आयाम प्रदान करेंगी. विप्लव देव ने आरोप लगाया कि कई दशकों से त्रिपुरा में सत्ता में रही लेफ्ट पार्टियों ने राज्य को विकास की मुख्यधारा से अलग कर दिया था. अपने कार्यकाल का एक साल पूरा कर चुके विप्लव का सपना है कि अगरतला में ट्विन टावर बने. बता दें कि इस दिशा में काम भी शुरू हो चुका है. अमेरिका से प्रेरणा लेते हुए विप्लव ने 25 फ्लोर की 2 ऊंची इमारतें बनवाने का काम शुरू कर दिया है जो उनके कार्यकाल में ही पूरा भी हो जाएगा. इन ट्विन टावरों को त्रिपुरा की पहचान के तौर पर जाना जाएगा.
स्कूली शिक्षा को देश की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए अगले सत्र से पूरे राज्य में NCERT की किताबे भी पाठ्यक्रम का हिस्सा होंगी. पेरेंट्स टीचर्स की मीटिंगे भी सीएम की ओहल से सरकारी और निजी स्कूलों में शुरू कराई गयीं हैं. संदेश साफ है कि लेफ्ट के राज में पिछड़े पड़े त्रिपुरा को बीजेपी ही विकास की राह पर डाल रही है और आलाकमान को भरोसा है कि इससे पूरे नॉर्थ ईस्ट पर असर पड़ेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज