Home /News /nation /

...जब बाढ़ पीड़ितों का हाल पूछने के लिए खुद पानी में कूद पड़े बिप्लव देब!

...जब बाढ़ पीड़ितों का हाल पूछने के लिए खुद पानी में कूद पड़े बिप्लव देब!

बिप्लव कुमार देब

बिप्लव कुमार देब

बिप्लव देब ने ट्विटर के जरिए जानकारी दी कि त्रिपुरा में भारी बारिश के कारण राज्य के कई क्षेत्र बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं. ऐसे में मैं वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों के साथ इन क्षेत्रों की यात्रा कर रहा हूं, ताकि प्रभावितों को जल्द से जल्द राहत पहुंच सके.

अधिक पढ़ें ...
    अपने बयानों को लेकर हमेशा चर्चा में रहने वाले त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लव कुमार देब एक बार फिर चर्चा में हैं. लेकिन इस बार उनके चर्चा में आने की वजह उनके बयान नहीं बल्कि उनके ओर से उठाए गए कदम हैं.

    दरअसल हाल ही में पूरे देश में आए तूफान और बारिश ने अपना कहर बरपाया तो इससे त्रिपुरा भी अछूता नहीं रहा. त्रिपुरा के कई इलाके इसकी वजह से बाढ़ की चपेट में आ गए. इसकी सूचना मिलते ही बिप्लव देव बाढ़ प्रभावित इलाके का दौरा करने निकल पड़े. उनके इस दौरे का अंदाज भी अलग था उन्होंने और लोगों कि तरह हवाई रास्ता ना चुन कर सीधे बाढ़ प्रभावित लोगों से मिलने का फैसला किया और पानी में उतरकर पूरी स्थिति का मुआयना भी किया.



    सीएम ने ट्विटर के जरिए जानकारी दी कि अगरतला के बाढ़ प्रभावित बनमालीपूर इलाके में प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ दौरा कर रहा हूं, ताकि प्रभावितों को जल्द से जल्द राहत पहुंच सके.



    बता दें कि त्रिपुरा के अगरतला का बनमालीपुर इलाका पूर्ण रूप से बाढ़ की चपेट में है. सीएम बिप्लव देब ने यहां पहुंचकर बाढ़ पीड़ितों के लिए मुआवजे की घोषणा की और पर्याप्त सुविधा मुहैया कराने का भी आश्वासन दिया.



    उन्होंने बाढ़ में जान गंवाने वाले पीड़ितों के परिजनों को 5 लाख और बाढ़ के कारण क्षतिग्रस्त घरों के पुनर्निर्माण के लिए 1 लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा की.

    ये भी पढ़ेंः
    देश के इकलौते आनंद मंत्री बोले- एक इंसान में होते हैं चारों वर्ण
    त्रिपुरा सीएम के बयान पर बोलीं डायना, 'बेहद शर्मनाक'

    Tags: Biplab Deb, BJP, Flood, Tripura

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर