त्रिपुरा बाढ़: 357 लोगों को निकाला गया, केंद्र कर रहा बचाव कार्यों की निगरानी

भाषा
Updated: August 12, 2017, 10:12 PM IST
त्रिपुरा बाढ़: 357 लोगों को निकाला गया, केंद्र कर रहा बचाव कार्यों की निगरानी
Centre त्रिपुरा में बाढ़ की स्थिति पर केन्द्र की नज़र (Getty image)
भाषा
Updated: August 12, 2017, 10:12 PM IST
त्रिपुरा के बाढ़ प्रभावित इलाकों में चल रहे राहत एवं बचाव कार्यों पर केन्द्र सरकार की पूरी नज़र है. केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने शनिवार को बताया कि बाढ़ प्रभावित इलाकों में राज्य सरकार को राहत एवं बचाव कार्य में मदद के लिए एनडीआरएफ के जवानों को रवाना कर दिया गया है.

रिजिजू ने बताया कि राज्य में बाढ़ की स्थिति पर केन्द्र सरकार पूरी नज़र रखे हुए है और एनडीआरएफ के दलों के साथ लगातार संपर्क में है. उन्होंने बताया कि एनडीआरएफ का एक दल अगरतला से बाढ़ प्रभावित गांव आश्रम चमानी कालोनी के लिए रवाना कर दिया गया है.

पश्चिमी त्रिपुरा जिले के इस गांव में होआरा नदी के जलस्तर में शुक्रवार को इजाफे के बाद राहत एवं बचाव दल को भेजा गया है. उन्होंने बताया कि राहत एवं बचाव अभियान के दौरान शुक्रवार को बाढ़ में फंसे 357 लोगों को जलमग्न क्षेत्रों से सुरक्षित निकाला गया.

इस दौरान 372 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. एनडीआरएफ दल अब बाढ़ से घिरे प्रतापगढ़ गांव के लिए रवाना हो गया है. रिजिजु ने बताया कि शुक्रवार रात से हो रही लगातार बारिश के कारण अगरतला के अधिकांश इलाकों में जलभराव होने से सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ है.

भारी बारिश के कारण बाढ़ से घिरे अधिकतर इलाकों में स्थानीय लोगों और वाहनों की आवाजाही थम गई है. सरकारी दफ्तरों, बैंक और शिक्षण संस्थाओं में लोगों की उपस्थिति भी काफी कम हो गई है.
First published: August 12, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर