लाइव टीवी
Elec-widget

बिना अनुमति निकाल रहे थे रैली, 100 से अधिक कांग्रेस कार्यकर्ताओं को लिया हिरासत में

भाषा
Updated: November 27, 2019, 1:06 PM IST
बिना अनुमति निकाल रहे थे रैली, 100 से अधिक कांग्रेस कार्यकर्ताओं को लिया हिरासत में
कांग्रेस कार्यकर्ताओं को रखा तीन घंटे तक जैल में

पुलिस सूत्रों ने कहा कि वरिष्ठ नेता गोपाल चंद्र रॉय और सुबल भौमिक सहित 134 कांग्रेस कार्यकर्ताओं को तीन घंटे से अधिक समय तक हिरासत में रखा गया.

  • Share this:
अगरतला. त्रिपुरा (Tripura) में कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि महात्मा गांधी की याद में बिना अनुमति रैली निकालने पर पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज कर उन्हें प्रताड़ित किया. पुलिस ने इस आरोप से इनकार किया है, पुलिस के अनुसार वे सिर्फ भीड़ को तितर-बितर कर रहे थे.

3 घंटे रखा हिरासत में
पुलिस सूत्रों ने कहा कि मंगलवार को वरिष्ठ नेता गोपाल चंद्र रॉय और सुबल भौमिक सहित 134 कांग्रेस कार्यकर्ताओं को तीन घंटे से अधिक समय तक हिरासत में रखा गया. कुछ घंटों बाद हिरासत में लिए गए लोगों को छोड़ दिया गया.

महात्मा गांधी की याद में निकाली रैली

युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव डॉ स्मृति रंजन लेंका ने संवाददाताओं से कहा कि हमने महात्मा गांधी के आदर्शों और शिक्षाओं के प्रसार के उद्देश्य से रैली आयोजित की थी. यह गांधी विचार संध्या पदयात्रा थी, यह किसी के विरोध में नहीं की गई थी. लेकिन पुलिस ने कार्यकर्ताओं को लाठियों से पीटा और उन्हें प्रताड़ित किया.

आवेदन देने के बाद भी नही मिली अनुमति
उन्होंने कहा कि अग्रिम आवेदन भेजने के बावजूद रैली को अनुमति नहीं मिली थी. बिना अनुमति रैली निकाले पर पुलिस ने इस तरह की कारवाई की. सूत्रों के मुताबिक रैली रोकने के लिए पुलिस ने अगरतला सर्किट हाउस के पास एक बैरिकेड लगाया था. उन्होंने बताया कि प्रदर्शनकारियों के बैरिकेड से आगे बढ़ने की कोशिश करने पर दोनों पक्षों के बीच हाथापाई हुई.
Loading...

पुलिस ने आरोप से किया इनकार
कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज के आरोप को नकारते हुए पश्चिम अगरतला पुलिस स्टेशन के प्रभारी सुब्रत चक्रवर्ती ने कहा कि हमें यह सुनिश्चित करना था कि बिना अनुमति रैली वाली इस भीड़ को इस भीड़ तितर-बितर किया जाए.

ये भी पढ़ें : कांग्रेस ने छोड़ा डिप्टी CM और स्पीकर पद, पार्टी को मिलेंगे 13 मंत्री पद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 1:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...