त्रिपुरा पंचायत चुनाव में BJP और IPFT की राह हुई अलग

त्रिपुरा पंचायत चुनाव में BJP और IPFT की राह हुई अलग
सांकेतिक तस्वीर (File Photo)

ग्राम पंचायत की 3207 सीटों, पंचायत समिति की 161 और जिला परिषद की 18 सीटों पर 30 सितंबर को उप-चुनाव होंगे.

  • Share this:
त्रिपुरा में सत्तारूढ़ बीजेपी और उसकी सहयोगी आईपीएफटी तीन चरण में होने वाले पंचायत के उप-चुनाव में अलग-अलग चुनाव लड़ेंगी. इससे नये गठबंधन के अंदर दरार की अटकलों को हवा मिली है. बीजेपी-आईपीएफटी के गठबंधन ने मार्च में 25 साल पुराने वाम शासन का खात्मा किया था.

ग्राम पंचायत की 3207 सीटों, पंचायत समिति की 161 और जिला परिषद की 18 सीटों पर 30 सितंबर को उप-चुनाव होंगे.

नौ मार्च को भारतीय जनता पार्टी-इंडिजिनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (आईपीएफटी) गठबंधन के सरकार बनाने के बाद से कई निर्वाचित जनप्रतिनिधियों के बड़े पैमाने पर इस्तीफा देने के कारण ये सीटें खाली हो गई थीं.



बीजेपी की पंचायत चुनाव समिति के अध्यक्ष और राज्य के शिक्षा मंत्री रतन लाल नाथ ने कहा कि पार्टी ‘‘अकेले दम पर अपनी क्षमता आंकना चाहती है.’’
नाथ ने चुनाव के लिये 3155 उम्मीदवारों की सूची प्रदर्शित करते हुए कहा, ‘‘हमने आईपीएफटी से इस संबंध में बात की है. बीजेपी अकेले दम पर अपनी क्षमता परखना चाहती है.’’

आईपीएफटी के महासचिव मंगल देबबर्मा ने भी घोषणा की कि उनकी पार्टी उपचुनाव अकेले लड़ने वाली है और वह चुनाव मैदान में बीजेपी के खिलाफ अपने उम्मीदवार उतारेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज