लाइव टीवी

पाकिस्तानी संसद में तुर्की के राष्ट्रपति बोले- कश्‍मीर जितना PAK के दिल के करीब उतना हमारे भी

News18Hindi
Updated: February 14, 2020, 7:43 PM IST
पाकिस्तानी संसद में तुर्की के राष्ट्रपति बोले- कश्‍मीर जितना PAK के दिल के करीब उतना हमारे भी
तुर्की के राष्‍ट्रपति रेसेप तैयब एर्दोगन ने पाकिस्‍तान की संसद में कहा कि हम कश्‍मीर मुद्दे पर इमरान खान सरकार का साथ देते रहेंगे.

तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयब एर्दोगन (Recep Tayyip Erdogan) पाकिस्तान के दो दिवसीय दौर पर पहुंचे हुए हैं. एर्दोगन ने शुक्रवार को पाकिस्तान (Pakistan) की संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए कश्मीर मुद्दे (Kashmir Issue) पर इमरान खान (Imran Khan) सरकार का खुलकर समर्थन किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 14, 2020, 7:43 PM IST
  • Share this:
इस्‍लामाबाद. तुर्की के राष्‍ट्रपति रेसेप तैयब एर्दोगन (Recep Tayyip Erdogan) ने कश्‍मीर मुद्दे पर पाकिस्‍तान का समर्थन किया है. उन्‍होंने पाकिस्तान (Pakistan) की संसद में संयुक्‍त सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे कश्मीरी भाई-बहन दशकों से बहुत कुछ झेल रहे हैं. इस दौरान उन्‍होंने बिना भारत का नाम लिए कहा कि हाल में उठाए गए एकतरफा कदमों की वजह से उनकी पीड़ा और बढ़ गई है. कश्मीर का मुद्दा (Kashmir Issue) संघर्ष या दमन के जरिये नहीं सुलझाया जा सकता है. इस मसले को न्याय और पारदर्शिता से ही हल किया जा सकता है. इस तरह से निकाला गया समाधान ही सभी पक्षों के हित में होगा.

'तुर्की कश्‍मीर में दमन के खिलाफ उठाता रहेगा आवाज'
एर्दोगन ने कहा कि तुर्की (Turkey) के कैनाकले में जो 100 साल पहले हुआ, अब वही कश्मीर में दोहराया जा रहा है. तुर्की इस दमन के खिलाफ अपनी आवाज उठाना जारी रखेगा. एर्दोगन ने कहा, पाकिस्‍तान और तुर्की की दोस्ती साझा हितों पर नहीं बल्कि प्रेम पर आधारित है. आज कश्मीर का मुद्दा जितना आपके दिल के करीब है, उतना ही हमारे भी है. पहले की ही तरह हम भविष्य में भी इस मुद्दे पर पाकिस्तान को समर्थन देना जारी रखेंगे. बता दें कि तुर्की ने संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) की बैठक में भी कश्मीर मुद्दे पर ऐसा ही रुख अपनाया था.

तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगन ने पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को आश्वासन दिया कि एफएटीएफ से ब्लैकलिस्ट होने के खतरे से निकालने में भी वह पूरी मदद करेंगे.


आतंकवाद के खिलाफ पाक के कदमों की सराहना की
तुर्की के राष्ट्रपति ने आतंकवाद (Terrorism) खत्म करने की कोशिशों के लिए पाकिस्तान की सराहना की. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान शांति और स्थिरता की राह पर है. साथ ही कहा कि शांति और स्थिरता कुछ दिनों के प्रयास से ही नहीं आ जाती है. इसके लिए लंबे समय तक लगातार मेहनत करनी होगी. पाकिस्तान और तुर्की अपनी भौगोलिक स्थिति की वजह से आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं. हम आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान को सहयोग देना जारी रखेंगे. तुर्की के राष्ट्रपति ने पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (PM Imran Khan) को आश्वासन दिया कि एफएटीएफ (FATF) से ब्लैकलिस्ट होने के खतरे से निकालने में भी वह पूरी मदद करेंगे.

एर्दोगन ने कहा कि हम आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान को सहयोग देना जारी रखेंगे.
आजादी की लड़ाई में पाक के योगदान को याद किया
एर्दोगन ने दोस्ती का जिक्र करते हुए कहा कि अतीत में पाकिस्तान ने हमेशा तुर्की का साथ दिया है. हम कभी भी उस मदद को नहीं भूल सकते हैं, जो हमारी आजादी की लड़ाई (Freedom Fight) के दौरान पाकिस्तान के लोगों ने की थी. उन्‍होंने 1915 के युद्ध का जिक्र करते हुए कहा कि जब हम डारडेनेल्स स्ट्रेट को बचाने के लिए जंग लड़ रहे थे, तब 6,000 किमी दूर लाहौर स्क्वॉयर (Lahore Square) पर हमारे समर्थन में रैली की जा रही थी. लाहौर स्क्वॉयर में हुई ऐतिहासिक रैली में भारी संख्या में मुस्लिम इकठ्ठा हुए थे और ब्रिटिश हुकूमत के दबाव के बावजूद तुर्की के लिए चंदा जुटाया था. इस दौरान एर्दोगन ने संसद के संयुक्‍त सत्र को संबबोधित करने का मौका देने के लिए पाकिस्‍तान का शुक्रिया अदा किया.

ये भी पढ़ें:

SC ने केंद्र से पूछा असम के डिटेंशन सेंटर्स में बंद लोगों का हाल और संख्‍या

हार्दिक पटेल की पत्‍नी किंजल ने कहा- पति के गुमशुदा होने से हूं चिंतित

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 14, 2020, 4:06 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर